Home कविता हर समस्या का हल अदालत से बाहर हो !

हर समस्या का हल अदालत से बाहर हो !

2 second read
0
0
1,082

हर  समस्या  का  समाधान , प्यार-मोहब्बत से अदालत के बाहर हो  ,

हर   कोई   प्रभावी   होगा  ,  तबाही    से   बच    जाएंगे    हम    सभी ,

भारत-  गंगा- जमुनी   तहज़ीब    की   जीती    जागती   मिसाल    है ,

भगवान   वहीं  पर  है  कौन  गवाही  देगा ,  तबाह  हो  जाएंगे  सभी  |

 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In कविता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…