Home राजनीति “हमारा देश “

“हमारा देश “

2 second read
Comments Off on “हमारा देश “
0
1,083
“हमारा देश ” :-
“जन तंत्र में” ” लोक तन्त्र से ऊपर” “कोई शक्ति नहीं होती “,
“और ‘ लोक -शक्ति ‘ से ऊपर ” ” कोई नीति नहीं हो सकती “,
“राजनैतिक दल स्वम को इनसे ऊपर समझने की गलती करते है” ,
“यही भटकाव है”,”सतह पर रह कर सवालों का हल प्रस्तुत करो” ,
“लोकतन्त्र का असली बादशाह मतदाता है””,इसी को भूल जाते हैं” ,
“मन-भुलावन हवा चलाते हो”,”‘हकीकत’ में वास्ता नहीं कुछ भी ” |
Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In राजनीति
Comments are closed.

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…