सुविचार !

1 second read
0
0
1,315

{1}” निराशा  से  सदा  बचें , आशा  की  दीप  जलाए  रक्खें  |  “उत्साह   रहित  जीवन ” से  तो  ‘असामयिक  मृत्यु ‘ उत्तम     है  | ” उत्साह  ”  और  ” “परिश्रम ”  का  रंग  अपने   ऊपर  चढ़ने    दो ” |

{2} जीवन  में  कई  बार  बड़ी  बातों  की  जगह  छोटी- छोटी   बातें  कहीं   अधिक  महत्वपूर्ण   होती  हैं  |  चोटी – छोटी  बातों  के  सहारे   कितने  ही  लोगों  ने  बड़े-बड़े  काम   करके  दुनियाँ  में  अपना  नाम    किया   है  |   इसलिए कहा   जाता   है ” काम – काम  होता  है –न  छोटा  न   बड़ा ” |

{3} “किसी  के  अच्छे  – बुरे  कर्मों  का  फल  तुरंत  मिलता  न  दिखाई   दे   तो  यह  कभी मत   सोचना  कि  इन  किए   गए  कर्मों  का   फल  आगे   नहीं  मिलेगा  |  कर्म  फल  से  कोई   बच  ही     नहीं  सकता   क्योंकि  न्यायकर्ता  ,  प्रतिछण  आपको  निहार  रहा   है  | “

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In सामान्य ज्ञान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…