Home कोट्स Motivational Quotes ‘ सुविचार ‘ जरा सोचिए !

‘ सुविचार ‘ जरा सोचिए !

1 second read
0
0
1,718

[1]

“जब जब खुशियों की आहट आती रहेगी तेरे घर से “,
“हमारा मन भी प्रसन्न रहेगा आपका घर देख कर ” |

[2]

‘ रिस्ता ” समझ का होता है , ‘ समझदारी ‘ से निभाते हैं “,
वहाँ ” आशा ” नहीं होती , सिर्फ ” विश्वास ” झलकता है “|

[3]

‘ खुशगवार विचारों के साथ जागिये”,’खुशी’ की बात कीजिये”,खुश रहिए” ,
” नश्वर  संसार   तुझे   डगमगाने  नहीं   देगा  “, ”  हँसते  रहोगे  हर  घड़ी  ” |

[4]

” कब  चिराग  बुझ  जाए “,” कौन  सा  छण  अंतिम  पड़ाव  होगा “,” कौन  जाने ” ?
“फिर भी आजमाने में लगा है,” “धन’,’मान’,’प्रतिष्ठा’,’बंधु’,’ किसी को नहीं छोड़ा ‘,
‘ आशाओं  के  तूफान  में ‘  ‘ सुख – चैन  तेरा   खो  गया’ ,’ किनारों  से  कट  गया ‘,
‘ कुसंगति  से  बच  ‘, ‘ समझदारी  का  परिचय  दे  ‘ , ‘ कर्म – प्रधान  जीवन  जी ” |

[5]

“आपसदारी”  शहद  सरीखी  है “, ‘दौलत  के  तराजू  में  मत  तोलना  कभी’ ,
” यह  कला  की  अभिव्यक्ति  नहीं ‘, ‘ दिलों  के  अहसास   का  खजाना  है ” |

 

 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…