Home कोट्स Funny Quotes “समाज की सेवा में कुछ छंद ” जरा सोचिए !

“समाज की सेवा में कुछ छंद ” जरा सोचिए !

3 second read
0
0
1,160

[1]

‘तू’   सदा  ‘मैं ‘ में  रहता  है ,’  हम  ‘ बन  जीना  नहीं  चाहता ‘,
जब ‘मैं’ और ‘तू’ ‘हम’ में जीने लगंगे ,’सब रास्ते खुल जाएंगे ‘ |

[2]

इज्जत  करने  की  कला  सिर्फ  इज्जतदार  ही  जानता  है , 
वो क्या इज्जत करेगा जिसने अनादर करना ही  सीखा  हो |

[3]

मित्रता  हो  यो  कोई  रिस्ता ‘, ‘सभी  आदर-सम्मान  के  भूखे  हैं ‘,
‘जहां  उनका  सम्मान  नहीं  होता ‘ ,’ वहाँ  वो  ठहरते   ही   नहीं ‘|

[4]

‘अपनी दुनियाँ को नर्क बना या स्वर्ग ‘,’ तेरी  सोच  का कमाल  है ‘,
‘सब  कुछ  इसी दुनियाँ में हाजिर है ‘ ‘दिल के पट खोल  कर देख ‘|

[5]

‘जिंदगी  हर  घड़ी  मुस्करा  कर  बिताई ‘ ,’ तो अच्छी  कट  जाएगी ‘,
‘प्रभु  ने सब कुछ दिया  है  फिर  भी  हम  रोएँ ‘,’तो  कोई  क्या  करे ‘?

[6] 

” आओ  आपस  में  दिलों  को  बदल  डालें  “,
“दिलों में अहसास कितना है””जान जाएंगे” ,
“अब मैं -मैं न रहूँ ”और तुम- तुम  न  रहो” ,
“धीरे-धीरे एकाकार हो जीना सीख जाएंगे” |

[7]

‘पुरानी  यादें  याद  आती  है  ,  वक्त  कभी  नहीं  आता ‘,
‘क्यों  ना  हर  लम्हा  मस्त  हो   कर   जी  लिया  जाए ‘|

 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Funny Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…