Home ज़रा सोचो ‘बेटी और बहू ‘–‘जरा समझिए जनाब ‘!

‘बेटी और बहू ‘–‘जरा समझिए जनाब ‘!

1 second read
0
0
1,324

” अपना   सब   कुछ    छोड़   कर , ‘ वो ‘  नए   घर  में    आई   है  ,

” लोग  बड़े  ना-सुकरे  हैं,पूछते  है’,’बहू – क्या-क्या  साथ  लायी  है’ ? 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…