Home कोट्स Motivational Quotes “प्रेरणादायक छंद “

“प्रेरणादायक छंद “

1 second read
0
0
1,467

{1}

तेरी  अकड़  जाती  नहीं  “,” दुनियांदारी  को  कैसे  निभाओगे ” ?
‘रिस्ते’ तो” तभी ठहरते हैं”,”जब इंसान झुकना सीख जाता है ” 

{2}

“तुमने ‘स्नान’ और ‘श्रंगार’ करके ” “शरीर  तो  खूबसूरत  बना  लिया” ,

“आंतरिक ऊर्जा कितनी अव्यवस्थित है”,”इस पर ध्यान बिलकुल नहीं”

 {3}

 “गम छिपाने का पूरा प्रयास करते हैं”,”किसी को भी हवा नहीं लगती” ,

“दिल  बड़ा  बेईमान  है ” “, दर्द  की  टीस  को  अक्सर  उभार देता  है ” |

 {4}
“जब भला इंसान गल्ती करे” “,तो सहन  करना सीख  लो “,

“मोती कीचड़ में गिरा जरूर है” ,” कीमत नहीं घटती कभी “

 {5}

“ना  किसी  से   ईर्ष्या  ना   किसी  से  होड “,
“अपनी-अपनी मंज़िलें”,”अपनी-अपनी दौड़” ,
“आया  है इस  दुनियाँ  में”, “तो  कुछ  कर  जा “,
“मरना तो निश्चित है ,सत्कर्म की हांडी भर जा” |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…