Home हमारा देश “देशमें ताज़ी हवा” ,”उम्मीद का चाँद उगने लागा है “|

“देशमें ताज़ी हवा” ,”उम्मीद का चाँद उगने लागा है “|

0 second read
0
0
1,136

‘नई   सोच ‘  ,  ‘ जबरदस्त    प्रयास    जारी ‘ , ‘ देश  आगे   बढ़   रहा   है’  ,

‘तरक्की  भी  हो  रही  है ‘, ‘निराशा  को  आशा  में  बदलने  की  मुहिम  है ‘ ,

‘नए   भ्रष्टाचार’ , ‘ प्रतिपक्ष  की  चौपड़ ‘ ,’ नई  उलझनें ‘, ‘कमजोर  कानून’ ,

‘फिर  भी  ताज़ी  आबोहवा  की  लहर ‘,’उम्मीद   का  चाँद  उगने  लगा  है ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In हमारा देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…