Home कोट्स Motivational Quotes “जीवन के विभिन्न सोपान छंदों के माध्यम से “

“जीवन के विभिन्न सोपान छंदों के माध्यम से “

2 second read
0
0
1,092

[1]

“कितनी  बार  लोगों  को  सुविधाओं  के  लिए’ ” लड़ते  झगड़ते  देखा  है” ,
“वो  लोग  भविष्य  में  कुछ  नहीं कर पाते” ” जिन्हें सुविधाएं मिलती हैं” ,
“कुछ लोग बहुत कम कर पाते हैं”,’ जिनके पास कोई सुविधा नहीं  होती” ,
“अभावों में भी ‘मेहनत’,’लगन’,’परिश्रम’ से,’अपनी मंज़िल पा ही लेते हैं” |

[2]

“सब्र  का  फल  मीठा  होता  है  परंतु’ , ‘अक्सर  सभी  धैर्य  खो  बैठते  है’ ,
‘तू  ज़रा  धैर्यवान  बन’ ‘ फिर  दुनियाँ  में  क्या  हासिल  नहीं कर सकता’ ,
‘कोई चीज यूं ही नहीं मिलती’ ,’परेशानियाँ झेल कर सफलता मिलती है’ ,
‘किसी लक्ष्य की प्राप्ति आसान नहीं’ तथा ‘सफलता चमत्कार नहीं होती’ |

[3]

“शांत स्वभाव की ताबीर है ‘ घड़ा’ ,’ गर्मी कहाँ से आएगी बता’ ?
“तू भी घड़े जैसा स्वभाव बना ‘ , ‘ जहर  उगलना  भूल जाएगा” |

[4]

“जैसे सपने देखे थे ‘,’ कोशिश नहीं की तूने कभी ‘,
‘तुम भाग्य को दोष देते हो ‘,’ कुछ  तो  शर्म करो ‘|

[5]

“जब  तेरे  सिर  पर  किसी  बड़े  का  हाथ  आ  जाएगा “,
“उन कांपते हाथों में इतनी ताकत है “” तू तर जाएगा” |

[6]

“दुनियादारी  का  मीठा  जहर  रोज़  पीते  हैं “,हम  इसीलिए  जिंदा  है ” ,
“किसी को मरना होता ‘ तो “जहर की एक पुड़िया काफी है उसके लिए ” 

[7]

” गरूर  का  शरूर  बड़ा  महँगा  पड़ेगा  देख  लो “,
“गरूरी का गरूर सदा टूटा है”,”जमीन  सूंघी  है” |

[8]

“हुश्न  को  देख  काफिर  बन  गया” ,” ये  क्या  किया  तूने ,?
“अपनेपन से वाकिफ होता” “तो  ये गुस्ताखी  नहीं  करता “|

[9]

” फुर्सत  में  ऐसे  मिलो,” ” शिकवा -शिकायत  ही  न  हो ” ,
“बेफिक्री” ,” ज़िंदादिली “,” प्यार  की  पहली  निशानी  है ” |

[10]

“हॅप्पी वाइफ हॅप्पी लाइफ “,”‘सफल  प्यार  सफल  सम्झौता” ‘ सफल  शादी ‘,
“नर्वस वाइफ ढीली लाइफ “अर्थात’  घमंड, ईगो, मतलब-परस्ती” बाकी  सफा” ,
“आपसी संवाद कटु””,अविश्वास का घरौंदा” ,”एक-दूसरे पर  अनर्गल  इल्ज़ाम” ,
“समय  कम  है” “अहं  त्यागो  आगे  बढ़ो”,”पतवार  पलटने  का  मौका  न  दो” |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…