Home ज्ञान असम्भव को संभव बनाओ

असम्भव को संभव बनाओ

0 second read
0
0
1,182

‘सूर्य   भगवान’   ‘ छोटे   दीखते    हैं ‘, ‘पर    त्रिभुवन    का    अंधकार’   ‘ मिटा    देते   है ‘,

‘अगुस्त   मुनि ‘, ‘छोटे   दिखते   थे ‘  पर  ‘ अंजुली   में’   ‘सागर   भर   कर   पी   गए   थे ‘ ,

‘मंत्र ‘   ‘छोटा   सा    होता    है ‘,  ‘संसार    के   सभी    देवता ‘  ‘उसके    अधीन    क्यों   हैं ‘,

‘राम   ने   मानव-जन्म    ले    कर ‘ ‘ताड़का ‘,  ‘मारीच’ ,  ‘सुबाहु’   को  ‘  मार    डाला   था ‘ ,

‘मन   की   शंका   दूर  करो ‘,  ‘विश्वास    जगाओ ‘, ‘असम्भव    को   सम्भव ‘  में  ‘ बदलो ‘,

‘मन   के   हारे   हार    है ‘, ‘ मन    के   जीते   जीत ,   ‘इसकी   गांठ   बांध    लो   मन    मे ‘  |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज्ञान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…