Home कोट्स Motivational Quotes चापलूसी का जहर

चापलूसी का जहर

0 second read
0
0
935

‘चापलूसी  का  जहर ‘, ‘अमृत’  समझ  कर  पी   गए ,  तो  बेड़ा  गर्क  है  ।

‘चापलूसी’  कभी  न  करें , और   ना   ही  दूसरों  को  करने  का  मौका  दें ,

‘चापलूसी’  के  बवंडर  मे  अनेकों  महल ,  तिनके  की  तरह   ढह   गए ,

खुद  को  ऐसे  सवारो  ,  देखने  वाले  नत   मस्तक   हो  कर  झुक    पड़े  |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…