Home हमारा देश हमारे सैनिकों की शहादत

हमारे सैनिकों की शहादत

0 second read
0
0
1,222

 

‘यह   सैनिकों  की  शहादत  नहीं ‘,’देश  का  स्वाभिमान   घायल  हुआ  है’ ,

‘सुरक्षा   व्यवस्था   में   छेद   है ‘ , ‘ देश   द्रोही’  ‘ छिपे    हैं   इस    तंत्र   मैं ‘,

‘पड़ौसी  को  कोसना  आसान  है ‘ , ‘अपने   जयचन्दों   से  लापरवाह ‘, ‘क्यों ‘ ?

‘भारतीय  सुरक्षा तंत्र   मदहोश  है ‘, ‘आस्तीनों  के  सांपों   का  डेरा   है  यहाँ ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In हमारा देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…