Home Uncategorized ” हमारे शरीर के ‘सभी अंग’ बेस कीमती हैं , उनका ‘सदुपयोग’ करना नितांत आवश्यक है ” |

” हमारे शरीर के ‘सभी अंग’ बेस कीमती हैं , उनका ‘सदुपयोग’ करना नितांत आवश्यक है ” |

0 second read
0
0
746
 [  स्वास्थ्य    ही   जीवन   है   ,   ये   नहीं   तो   सब   कुछ   खतम  ]
‘कुछ   विचार ‘  ‘ विचारणीय   प्रश्न ‘-  जो   हमारे   जीवन   से   संबंधित   हैं   ?
* प्रभु  ने  हमारे  शरीर  को  अनेकों  अंग  प्रदान  किए  हैं  जिनके  माध्यम  से  हम  स्वस्थ  जीवन  जी  सकते  हैं  परंतु  डर  लगता  है ।🤔*
*आमाशय*   को  डर  लगता  है  जब  आप  सुबह  का  नाश्ता  नहीं  करते  हैं ।
*किडनी*   को  डर  लगता  है  जब  आप  24  घण्टों  में  10  गिलास  पानी  भी  नहीं  पीते ।
*गाल  ब्लेडर* ( પિત્તાશય )    को  डर  लगता  है  जब  आप  10  बजे  रात  तक  भी  सोते  नहीं  और  सूर्योदय  तक  उठते  नहीं  हैं ।
*छोटी  आँत*    को  डर  लगता  है  जब  आप  ठंडा  और  बासी  भोजन  खाते  हैं ।
*बड़ी  आँतों*    को  डर  लगता  है  जब  आप  तैलीय  मसालेदार  और  मांसाहारी  भोजन  करते  हैं ।
*फेफड़ों*    को  डर  लगता  है  जब  आप  सिगरेट  और  बीड़ी  के  धुएं  ,  गंदगी  और  प्रदूषित  वातावरण  में  सांस  लेते  है ।
*लीवर*   को  डर  लगता  है  जब  आप  भारी  तला  भोजन ,  जंक  और  फ़ास्ट  फ़ूड  खाते  है ।
*हृदय*   को  डर  लगता  है  जब  आप  ज्यादा  नमक  और  केलोस्ट्रोल  वाला  भोजन  करते  है  ।
*पैनक्रियाज* ( સ્વાદુપિંડ )   को  डर  लगता  है  जब  आप  स्वाद  और  फ्री  के  चक्कर  में  अधिक  मीठा  खाते  हैं ।
*आँखों*    को  डर  लगता  है  जब  आप  अंधेरे  में  मोबाइल  और  कंप्यूटर  के  स्क्रीन  की  लाइट  में  काम  करते  है ।
और
*मस्तिष्क*   को  डर  लगता  है  जब  आप  नकारात्मक  चिन्तन  करते  हैं ।
आप  अपने  तन  के  कलपुर्जों  को  मत  डरायें  ।
ये  सभी  कलपुर्जे  बाजार  में  उपलब्ध  नहीं  हैं ।
जो  उपलब्ध  हैं ,
वे  बहुत  महँगे  हैं  और  शायद  आपके  शरीर  में  एडजस्ट  भी  न  हो  सकें ।
इसलिए  अपने  शरीर  के  कलपुर्जों  को  स्वस्थ  रखे ।
Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…