Home प्रेरणादायक लोग ” स्वामी विवेकानंद ” एक अविस्मरणीय प्रेरणाश्रोत !

” स्वामी विवेकानंद ” एक अविस्मरणीय प्रेरणाश्रोत !

0 second read
0
0
1,002

स्वामी   विवेकानंद    जी    ने    कहा    था    –

” प्रत्येक   राष्ट्र   का   एक   जीवन   प्रयोजन   होता   है  ,  और   जब   समय   व   आवश्यकता   होती   है  तो   राष्ट्र   का   जन्म   होता   है  .  और   जब   उस   प्रयोजन   की   आवश्यकता   समाप्त   होती   है   तो   उस   राष्ट्र   का   विलय   हो   जाता   है . विश्व  को   धर्म   व   एकता   की   शिक्षा   देने   का   कर्तव्य         भारत   देश   ( हिन्दुओं  )   का   है ,   और   विश्व   के   रहने   तक   हिन्दू   समाज   व    भारत   का   अस्तित्व   बना   रहेगा  .”


– डॉ. मोहन जी भागवत, सरसंघचालक, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( शिकागो – द्वितीय वर्ल्ड हिन्दू कांग्रेस, 2018)

 
 à¤šà¤¿à¤¤à¥à¤° में ये शामिल हो सकता है: 1 व्यक्ति, टोप
Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In प्रेरणादायक लोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…