Home जीवन शैली “स्वच्छता अभियान अभी अधूरा है” |

“स्वच्छता अभियान अभी अधूरा है” |

0 second read
0
0
1,130

“आज    भी    सिर    पर    मैला    धोने    की ”  “अमानवीय    प्रथा   जारी    है”  ,

‘स्वच्छता’    की   “प्रगति    का    दावा   झूठा   है ” , “प्रथा- माथे   का  कलंक   है “,

“गड़र    में    घुस   कर    सफाई    करने    से ”  ” म्रत्यू   का   आंकड़ा    बढ़ा    है ” ,

“ज़हरीली   गैसें   मार   डालती   हैं “, “विज्ञान    की   मदद   क्यों   नहीं  मिलती “?

“स्वच्छता    में    अभी    हम ”  ” निचले    पायदान    पर    ही   लटके    हुए    हैं ” ,

“दलित   अत्याचार”  पर  “नकली   आँसू   बहाते   हैं” , “सब   ढ़ोल   की  पोल  है” ,

“सफाई   को   आधुनिक   उपकरणों   से   जोड़ो “, ‘काम    को   सम्मान  से   देखो “,

“गंदगी   दूर   करने   वाले ” ,’गंदी ‘  बस्तियों   में   रहते   हैं” ,”उनका  उद्धार  करो ” | 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In जीवन शैली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…