Home सुविचार सुविचार

सुविचार

0 second read
0
0
1,308

1 कोई भी व्यक्ति आपके पास तीन कारणों से आता है :-

‘भाव से , अभाव से , प्रभाव से ‘ |

‘यदि भाव से आया है तो उसे प्रेम दो ‘ |

‘यदि अभाव से आया है तो फ़ोरन मदद करो ‘ |

‘यदि प्रभाव से आया है तो प्रसन्न हो जाओ कि परमात्मा ने आपको इतनी छमता दी है ”

{2} ” रिस्तों में वैसा ही सम्बंध होना चाहिए जैसा हाथ और आँख का होता है | हाथ पर

चोट लगती है तो आँख से आँसू निकलते हैं और आँख मे आँसू आने पर हाथ ही उनको

साफ करता है |’

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In सुविचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…