Home सुविचार सुविचार

सुविचार

0 second read
0
0
1,244

“ आपकी मुस्कराहट  आपके  चेहरे  पर  भगवान  के  हस्ताक्षर  हैं , उनकों

क्रोध  करके  मिटाने   की  अथवा  आंसुओं  से  धोने  की  कोशिश  ना  करें  |

जीवन  में  कभी  किसी  से  अपनी  तुलना  मत  करो ,  आप  जैसे  हैं –सर्वश्रेष्ठ

हैं , ईश्वर  की  हर  रचना  अपने  आप  में  सबसे  उत्तम  है ,  अदभूत  है ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In सुविचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…