Home कोट्स Motivational Quotes “सुविचारिए – कुछ छंद जो मन को उद्वेलित करते हैं ” !

“सुविचारिए – कुछ छंद जो मन को उद्वेलित करते हैं ” !

1 second read
0
0
278

[1]

‘अगर समय -अनर्थ व्यर्थ होता है’ ,
‘यह अनुचित सूचना है ‘,
‘उचित समय पर उचित कदम’ ,
‘ऊंचाई पर बिठा देगा ‘|

[2]

‘पल भर की मुलाक़ात पर’ 
‘दिल दिया नहीं जाता ‘,
‘बेजरूरत हम- सालों पुराने रिस्ते भी’ ,
‘भूल जाते हैं ‘|

[3]

‘हम अक्सर दूसरों पर इल्ज़ाम लगाने की कोशिश में लगे रहते हैं ‘,
‘ खुद  कितने  जुल्म  ढाते  हैं ‘ ,’ ऐसा  कभी  सोचा  नहीं  हमने ‘|

[4]

‘स्वार्थ हित में प्रभु से प्रार्थना’ ,
‘कभी सत्संग नहीं कहलाता’,
‘समर्पण भाव से किया खर्चा ही’ ,
‘प्रभु स्वीकार करते हैं ‘|

[5]

‘हम कितने सही हैं कितने गलत ‘,
‘स्वम फैसला नहीं होता’,
‘हमारे ‘कर्म’ यह भूमिका निभाते हैं ‘,
‘कर्म’ की पूजा करो ‘|

[6]

‘जिंदगी ने मौत से पूछा,                                                                                                                                                                                                  ‘जीव की मुझसे स्नेह और तुमसे नफरत क्यों’?
मौत ने कहा!                                                                                                                                                                                                                  ‘तुम’झूठ का पुलिंदा’ हो, और मैं ‘दर्दभरी हकीकत’ हूँ |

[7]

‘हमारे भाग्य में नहीं’कह कर, 
‘पौरुष शक्ति का अपमान उचित नहीं’ ,
‘कर्मकार होकर संघर्ष करते रहो’,                                                                                                                                                                                      ‘असंभव भी संभव हो जाएगा ‘|

[8]

‘सुदामा’ नाम सुनकर कान्हा नंगे पैर 
द्वार की ओर भागे थे ‘,
‘सुदामा’ तो गरीब था,
‘दोस्ती’ की ताकत का कमाल था ‘|

[9]

‘प्रभु का ध्यान’ जब मन में आ जाए’ ,
‘दिल’ मंदिर समझ अपना ‘,
‘यह अहसास दिल को पाक कर देगा’,
‘मंदिर’ की कहाँ जरूरत है ‘?

[10]

‘किसी को जला कर कोई हंस पड़े’,
‘देखा नहीं कभी ‘,
‘जलन’ की हवस का शिकार प्राणी’ ,
‘खुद भी जल जाया करता है ‘|

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

“हमारे देश का कायाकल्प होना जरूरी है , गंदी राजनीति का शिकार है हमारा देश” |

[1] हमारे  देश  में ‘आतंकवादी’ का  कोई  धर्म, कोई  जाति, कोई  देश, होता  ही  न…