Home ज़रा सोचो सारा संसार’ ‘अच्छाई’ व ‘बुराई’ दोनों से ‘भरा पड़ा’ है

सारा संसार’ ‘अच्छाई’ व ‘बुराई’ दोनों से ‘भरा पड़ा’ है

0 second read
0
0
1,358

‘सारा संसार’ ‘अच्छाई’ व ‘बुराई’ दोनों से ‘भरा पड़ा’ है ,
‘हम’ ‘दोषों को’ सदा सिर्फ ‘अपनी निगाह’ से ‘तलसाते’ हैं ,
‘हम’ ‘अगर घटिया हैं’ ,’सबकुछ कपटी’ , ‘बुरा’ ‘नज़र आएगा’ ,
‘हम सुविचारी हैं’ ,’सभ्य’ , ‘सुलझे’ , ‘अच्छे’ ‘ नज़र ‘ आएंगे सभी |

Load More Related Articles
Load More By Tara Chand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धकेल देगा

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धक…