Home कोट्स Motivational Quotes ‘समाज के कुछ मोती पिरोये हैं , शायद आपको पसंद आयें ‘!

‘समाज के कुछ मोती पिरोये हैं , शायद आपको पसंद आयें ‘!

0 second read
0
0
129

[1]

‘मैं  थक – हार  गया  हूँ’ ‘कैसे  कहूँ  अपने  मुंह  से ‘,
‘न जाने किसी की  आस हूँ’ ,’किसी का  विश्वास हूँ ‘|

[2]

‘सत्य’ को चाहे  जितना  प्रताड़ित  करो’ ,
‘हो  ही  जाएगा’, 
‘पराजित  करने  का  प्रयास  करोगे  तो’,
‘खुद  हार  जाओगे ‘|

[3]

‘मित्र’ 
‘तुम  हमसे  जुड़  गए  कोई  पूर्व  जन्म  का  प्रताप  है ‘,
‘इस  भीड़  भरी दुनियाँ  में  कौन  किसको  जानता  है ‘?

[4]

‘सभी  इंसान  बहुत  अच्छे  होते  हैं ‘,
‘यह  अनुमान  है  मेरा ‘,
‘बाकी  बुरे  वक्त  में  जान  जाएंगे’ ,
‘कौन  अपना  है ‘?

[5]

‘दुःख  पहले  भी  थे  आज  भी  हैं ‘,
‘यह  सौगात  सबके  पास  है ‘,
‘अब  सहनशीलता  कहीं  नहीं  मिलती’,
‘बेडोल  जीवन  है  सबका ‘|

[6]

‘जख्म  भी  मेरे ”नमक  भी  मेरा ‘
‘लगाने  वाले  भी  तुम्हीं  निकले ‘,
‘बेवफाई  की  बेमिसाल  कहानी  बन  कर’ ,
‘सताते  रहे  सदा ‘|

[7]

‘शमा’  जलती  है  या  जलाती  है’,
‘आजतक  समझ  नहीं  पाया ‘,
‘शायद  मौके  की  नज़ाकत  देख’,
‘वो’  अपना  रंग  बदलती  है ‘|

[8]

‘किसी  की  आँख  का  आंसूँ ‘,
‘कई  बार  दिल  भेद  देता  है ‘,
‘दिल  का  दर्द  बेजूबा  बन  कर’ ,
‘मन  में  उतर  जाता  है ‘|

[9]

”प्रभु का प्रसाद’ और ‘बुजुर्गों का आशीष’,
‘झुक  कर  ही  मिलता  है ‘,
‘झुकना’ सम्मान  खोना  नहीं’ ,
‘पाने  का  सुंदर  प्रारूप  है ‘|

[10]

‘सभी   डे  मनाते  हैं  पर  किसी  को ‘इंसानियत  डे’ मनाते  नहीं  देखा’, 
‘यह  डे  भी  मना  लेते  तो  ‘इंसानियत’  की  परिभाषा  समझ  जाते ‘|

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘ कुछ जीवन का इत्र छिड्को , आनंद से भर जाओगे ‘|

[1] ‘अपनों  में  सही  अपनों  को  ढूँढना, ‘बहुत  मुस्किल  काम  है ‘, R…