Home सेल्फ इम्प्रूव्मन्ट संतुष्टि -कामयाबी की

संतुष्टि -कामयाबी की

0 second read
0
0
1,048

‘कितने  ही  अच्छी  नौकरी ‘,’अच्छा  व्यापार  करके ‘ भी ‘कभी  संतुष्ट  नहीं  होते’ ,

‘उन्हें    गिला – शिकवा  रहता  है’ ,’ ज़िंदगी  में  कुछ  नहीं  कर  पाये  हम    कभी ‘,

‘सिर्फ   एक   दिशा   में   लगातार  प्रयास’ , ‘ सिद्दत   से  करके   देख   तो   सही’ ,

‘दस   जगह   हाथ   मत   फंसा ‘ , ‘सफलता  का  मक़सद’  ‘ पूरा  हो  जाएगा  तेरा  ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In सेल्फ इम्प्रूव्मन्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…