Home कोट्स Success Quotes व्यक्तित्व का विकास और संघर्ष

व्यक्तित्व का विकास और संघर्ष

0 second read
0
0
1,190

(1)  ‘ इंसान के व्यक्तित्व का निर्माण’,’उनका रंग’,’शरीर”कपड़े”नहीं करते’ ,

‘व्यक्तित्व का निर्माण’तो ‘मनुष्य  के विचार’ और ‘उसका आवरण’करता है |

 

(2)   ‘हमारे जीवन  में ‘संघर्थ’वह  ईमारत  है’,’जिसकी  सचमुच  जरूरत है ,

‘अगर बिना  कुछ  करे’ ‘सब  कुछ  पाने लगे’,तो ‘हम अपंग  ही  हो जाएंगे’ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Success Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…