Home कविताएं उदासी की कविताएँ विषयों को’ ‘ हमने नहीं भोगा’ ,’विषयों ने’ ‘हमको भोग लिया

विषयों को’ ‘ हमने नहीं भोगा’ ,’विषयों ने’ ‘हमको भोग लिया

0 second read
0
0
1,219

‘विषयों को’ ‘ हमने नहीं भोगा’ ,’विषयों ने’ ‘हमको भोग लिया’ ,
‘हमने ‘ ‘तप नही तपे’ , परन्तु ‘तपों ने’ ‘हमें तप डाला ‘ ,
‘कल’ ‘व्यतीत नहीं हुआ’ , पर ‘हमारी आयु’ ‘व्यतीत हो गयी’ ,
‘बचा जीवन’ ”सच्चाई से’ ‘समाज सेवा’ मे ‘लगा ‘ अब तों |

Load More Related Articles
Load More By Tara Chand Kansal
Load More In उदासी की कविताएँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धकेल देगा

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धक…