Home कोट्स Motivational Quotes ‘विपत्तियाँ’ अनुभव का खजाना हैं , कुछ ‘सिखाये’ बिना ‘बिदा’ नहीं होती | कुछ श्रेष्ठ छंद पेश हैं |

‘विपत्तियाँ’ अनुभव का खजाना हैं , कुछ ‘सिखाये’ बिना ‘बिदा’ नहीं होती | कुछ श्रेष्ठ छंद पेश हैं |

1 second read
0
0
538

[1]

जरा सोचो
कुछ ‘श्रेष्ठ’ करो, कुछ ‘श्रेष्ठ’ बनो, ‘श्रेष्ठ’ पाने की ‘नियति’ बनाओ,
‘ढुलमुल  नीति’  किसी  काम  की  नहीं , ‘ नैय्या ‘  डूब जाएगी !

[2]

जरा सोचो
‘विपत्तियां’  वह  ‘विद्यालय’  है  जहां  ‘अनुभव  का  खजाना’  मिलता  है,
चाहे  कुछ  ‘बनो’  या  ‘बिगडो’, कुछ  ‘सिखाएं बिना’ ये  विदा  नहीं  होती !

[3]

जरा सोचो
‘रिश्ते’ जब  बनाते  ही  नहीं, ‘आनंद’ की ‘अनुभूति’  कहां  से आएगी ?
‘ रिश्ते ‘  जिंदा  रखने  हेतु ,  ‘रिश्तों’  में  जीना  पड़ता  है  जनाब !

[4]

जरा सोचो
‘साफ  दिल  इंसान’  और  ‘साफ  सच्ची  बातें’ आसानी  से  ‘हजम  नहीं  होती,
‘नाशुकरे’  टांग  खींचे  बिना  नहीं  रुकते, ‘बदहजमी’  के  ‘शिकार’  मिलते  हैं !

[5]

जरा सोचो
जो  लोग  ‘ शक्की  नजर ‘  और  ‘  कान  के  कच्चे ‘  मिल ते हैं ,
‘सुख  की  नींद’ सो  नहीं  सकते, ‘जोर’ कितना  भी  लगा  ले  वों ?

[6]

जरा सोचो
‘ब्यूटी  पार्लर’  वालियों  ने  ‘गजब’  ढा  रखा  है  हमारे  देश  में,
‘ नर्क ‘  को  ‘ स्वर्ग ‘  में  बदलने  का  ‘ ठेका ‘ उन्हीं  के  पास  है !

[7]

पहले  ‘पड़ोसी’  भी  ‘घर’  के  ही  होते  थे , अब  ‘हर  घर’  में  ‘कई  पड़ोसी’  हैं,  विडंबना  देखो  !
यह  ‘जहरीली  हवा’ अभी  क्या-क्या  दिखाएगी, वही  जानता  है ! ‘बचा  लेना’-‘ प्रभु ‘ सबको !

[8]

जरा सोचो
दर्दभरा  ‘गम’  का  मौसम  है  फिर  भी, ‘गुनगुनाना’ सीख  गया  हूं,
‘ खुदको ‘  भूल  कर  ‘ सबको ‘  ‘ हंसाने  का  सौदा ‘  कर  लिया  मैंने !

[9]

जरा सोचो
‘ जरूरतमंद ‘  को ‘ जलील ‘  करके  ‘ चौखट ‘  से  विदा  कर  देते  हो ,
‘समय’ ने  वह ‘कटोरा’ ‘तुम्हारे  हाथ’ में  दे  दिया  तो ‘क्या’ होगा जनाब ?

[10]

कोराना काल में
‘जीने’ का ‘जज्बा’ तो  रख  दिल  में, ‘खुशियों’ की  उम्र  लंबी  है,
‘सही  सलामत’  रहा  तो  ‘चाहे  जब’  ‘दिवाली’  मना  लेना !

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…