Home कविताएं प्रेरणादायक कविता ललक है तो कोई ” चींटी ” से भी सीख सकता है

ललक है तो कोई ” चींटी ” से भी सीख सकता है

0 second read
0
0
2,213

ललक है –तो कोई ” चींटी ” से भी सीख सकता है ,
ललक नहीं — तो कोई कुछ भी नहीं सिखा सकता ,
“संघर्ष ” करिये ,” कुछ करिये” ,” सफलता ” अवश्य मिलेगी ,
अनेकों बार मानव ने ही , “असम्भव ” को भी ” सम्भव ” बनाया है |

Load More Related Articles
Load More By Tara Chand Kansal
Load More In प्रेरणादायक कविता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धकेल देगा

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धक…