Home कोट्स Motivational Quotes रोज़ की समस्याओं को समझें,चर्चा करें, हल करें,आगे बढ़ें,सकारात्मक बने रहें | कुछ सारगर्भित छंद |

रोज़ की समस्याओं को समझें,चर्चा करें, हल करें,आगे बढ़ें,सकारात्मक बने रहें | कुछ सारगर्भित छंद |

4 second read
0
0
445

[1]

जरा सोचो
‘झूठ’  तो  सिर्फ  ‘झूठ’  रहता  है, ‘यकीन’  भी  जल्दी  हो  जाता  है,
हकीकत  में ‘सच’  को ‘सच’ साबित  करने  में, ‘पसीने’ छूट जाते  हैं !

[2]

जरा सोचो
‘मैं’  सामान्य  प्राणी  हूं, ‘नाराज’  होना  मेरी  ‘फितरत’  नहीं,
‘गरजने’ वालों  को ‘खुद’  पर  भरोसा  नहीं, ‘गरूर  ही  गरूर’ है !

[3]

जरा सोचो
दिन-रात  ‘कड़वे  घूंट’  पीते  हैं, ‘शांति’  का  नामोनिशान  नहीं,
‘अमीर’ बनना  उद्देश्य  नहीं, ‘खुशमिजाज’ रहने  की  तमन्ना  है !

[4]

जरा सोचो
‘ वाद- विवाद ‘- ‘ अनुभवी  प्रतिभाऔं ‘  का  ‘ प्रवाह ‘  रोक  देते  हैं ,
‘सकारात्मक कार्यों  पर  ध्यान, मानसिक शांति, और  ‘नई  राहें- ‘अंतर्ध्यान’ !

[5]

जरा सोचो
हमारी  ‘सोच  की  दिशा’ सही  है, तो  ‘परिणाम’ की  चिंता  किसलिए,?
‘मस्तिष्क  की  उठापटक’  ही  अक्सर  मन  में  ‘जहर’  घोल  देती  है !
[6]
जरा सोचो
‘चुनौतियों’  का  सामना  किए  बिना  आसानी  से  ‘राह’ नहीं  मिलती,
रोज  की  ‘ समस्याओं ‘  को  समझें , चर्चा  करें , हल  करें, आगे  बढ़ें !
[7]
 जरा सोचो
‘हम’- ‘मतलब  की  बात’ करते  हैं, ‘सुनते’  हैं, बाकी  सब  कुछ ‘नदारत’,
दूसरों  की  ‘बात  का  मतलब’  समझोगे ,  तभी  ‘ जीवन ‘  को  जानोगे !
[8]
जरा सोचो
‘तनाव’  से  बचना  है  तो  ‘दौलत’  खर्च  करने  की  ‘जरूरत’  नहीं,
‘खुश’ रहने  की ‘कोशिश’ करो, सचमुच ‘जीने  का  मजा’ आ जाएगा !
[9]
 जरा सोचो
दूसरों  की  ‘ खामियों ‘  पर  नहीं , ‘ खूबियों ‘  पर  नजर  रखें,
तुम ‘शीशे’  में  उतर  आओगे, दिल  की ‘दुर्गंध’  निकल जाएगी !
[10]
जरा सोचो
‘हम’  जो  हैं  उसको  ‘ कम ‘  और  जो  ‘नहीं’  है,  उसे  ही  ‘भाव’  देते  हैं,
‘रिश्ते’- ‘प्यार  का  विकल्प’ जरूर  है, ‘प्यार’ नहीं, आजमा  कर  देखिए !
Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…