Home कोट्स Motivational Quotes ‘राधे’ का नाम ‘शक्ति’, ‘कृष्ण’ का नाम ‘भक्ति’ है, राह ‘सुमरण’ की पकड़ |

‘राधे’ का नाम ‘शक्ति’, ‘कृष्ण’ का नाम ‘भक्ति’ है, राह ‘सुमरण’ की पकड़ |

0 second read
0
0
504

[1]

जरा सोचो
‘दूसरों’  को  सुनना , समझना , और  सम्मान  देना, ‘आदत’  बना  अपनी,
यह ‘सफलता  का  सोपान’  है, ‘संगठित’  परिवार  की  संपूर्ण  ‘व्याख्या’  है !

[2]

जरा सोचो
रोज  ‘मंदिर’  में  ‘माथा’  टिका  कर, ‘धर्मराज’  बनने  की  कोशिश  ना  कर,
बस  ‘सत्कर्म’ की  झड़ी  लगा, किसी  के ‘काम’ आ, जिह्वा  से ‘अमृत’  टपका !

[3]

जरा सोचो
‘राधे’  का  नाम  ‘ भक्ति ‘, ‘ कृष्ण ‘  का  नाम  ‘ मुक्ति ‘  है,
तू  किस  चीज  में ‘विभक्त’  है ? ‘राह’ सुमरन  की  पकड़ !

[4]

जरा सोचो
‘अपनों’ के निकट आते  ही ‘मुस्कुराओ’, ‘गमों’ को  भूलते  जाओ,
‘ भेदभाव ‘  सब  मिट  जाएंगे , ‘ खुशी  के  रंग ‘  भर  जाएंगे  !

[5]

जरा सोचो
अपने  ‘स्नेह’  और  ‘व्यवहार’  के  ‘चुंबक’  को  कहीं  ‘चप्पा’  तो  कर,
कहीं  भी  कैसा  भी  ‘विरोधी’  हो  ? एक  दिन ‘बिछ’ जाएगा  तेरे  लिए !

[6]

जरा सोचो
‘डर’  से  जिओगे  तो  ‘मर’  जाओगे,
‘विश्वास’ से  जिओगे  तो ‘जी’  जाओगे !

[7]

जरा सोचो
‘अच्छे  दोस्त’ और  ‘अच्छे  रिश्ते’  ‘किस्मत’  वालों  को  ही  मिलते  हैं,
तुम  ‘ दौलत ‘  से  नापते  रहे  ‘ उनको ‘, तुमसा  ‘ दरिद्र ‘  कोई  नहीं !

[8]

जरा सोचो
ज्यादा  ‘गम’  या  ‘खुशी’, ‘आंसुओं’  को  बाहर  निकाल  लाते  हैं,
हर  ‘मौसम’  में ‘तटस्थ  भाव’, जीवन  की ‘गरिमा’ बनाए  रखते  हैं !

[9]

जरा सोचो
‘राम’  नाम ‘आधार’  हो  जिनका, ‘पत्थर’  भी  ‘तर’  जाते  हैं,
जिनका  ‘आधार’  ही  ‘पत्थर’  हो,  ‘डूबना”  सुनिश्चित  है !

[10]

जरा सोचो
‘प्यार  बांटो , सम्मान  बांटो, या  भोजन’, प्रभु  !  ‘वापिस’  भेज  देते  हैं ,
‘ताउम्र’ सब  कुछ ‘इकट्ठा’ करता  रहा  जालिम, अंत  में ‘हाथ’ खाली  थे !

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…