Home जीवन शैली ‘मोर पंख के गुण और उसकी महत्ता ‘-‘हिन्दू-धर्म की अलबेली और छोटी कथा ‘|

‘मोर पंख के गुण और उसकी महत्ता ‘-‘हिन्दू-धर्म की अलबेली और छोटी कथा ‘|

14 second read
0
0
65

●मोर  पँख   की   महत्ता   व   गुण●
📝लाभ   आपके   हाथ   में।
मित्रो  , 
भगवान   श्रीकृष्ण   का   अपने   मुकुट   पर   मोर   पंख   को   स्थान   देना  ,   इन्द्र  देव   का   मोर   पंख   के   सिंहासन   पर   बैठना  ,  पौराणिक                काल   में   महर्षियों   का   मोर   पंख   की   कलम   से   बड़े – बड़े   ग्रंथ   लिखना  ,   ये   कुछ   ऐसे   उदाहरण   हैं   जो   मोर   पंख   की   उपयोगिता                  को   बताते   हैं  ।
समस्त   शास्त्रों , ग्रंथों  , वास्तु   और   ज्योतिष   शास्त्रों   में   भी   मोर   के   पंख   को   अहम   स्थान   दिया   गया   है  ।   मोर   पंख   को   घर    में              रखने   के   पीछे   ना   सिर्फ   धार्मिक   महत्व   है   बल्कि   इससे   घर   की   सुख – समृद्धि   में   भी   बढ़ोतरी   होती   है  ।


👣सुख – सम्रद्धि👣

मोर   पंख   को   घर   में   किसी   ऐसी   जगह   पर   रखना   चाहिए   जहां   से   वो   आसानी   से   दिखायी   देता   रहे  ।   ऐसा   इसलिए   क्योंकि                  मोर   पंख   घर   में   मौजूद   नकारात्मक   शक्तियों   को   नष्ट   कर   सकारात्मक   ऊर्जा   यानी   पॉजिटिव   एनर्जी   का   संचार   करता   है  ।
👣सुख-सम्रद्धि👣

यदि   जीवन   में   अचानक   कष्ट   या   विपत्ति   आ   जाए   तो   घर   या   बेडरूम   के   अग्नि   कोण   में   मोर   पंख   लगाना   चाहिए  ।   थोड़े   ही            समय   में   सकारात्मक   असर   दिखने   लगेगा  ।   साथ   ही   घर   के   दक्षिण – पूर्वी   कोने   में   मोर   का   पंख   लगाने   से   भी   घर  में  बरकत           बढ़ती   है  ।
👣सुख-सम्रद्धि👣

जो   व्यक्ति   हमेशा   अपने   पास   मोर   पंख   रखता   है   उस   पर   कभी   कोई   अमंगल   नहीं   मंडराता  ।   साथ   ही   अपनी   जेब   या   डायरी  में          मोर   पंख   रखने   पर   राहू   दोष   भी   प्रभावित   नहीं   करता   है  |
👣सुख-सम्रद्धि👣

घर   का   मुख्य   द्वार   यदि   वास्तु   के   विरुद्ध   हो   तो   द्वार   पर   तीन   मोर   पंख   स्थापित   करें  ।   पंख   के   नीचे   भगवान   गणेश   का   चित्र              या   छोटी   प्रतिमा   स्थापित   करने   से   वास्तु   दोष   दूर   हो   जाता   है  ।
👣सुख-सम्रद्धि👣

मोर   का   प्रिय   आहार   सांप   है   इसलिए   सांप   मोर   से   भय   खाते   हैं   और   ऐसी   जगह   नहीं   जाते   जहां   मोर   पंख   दिखाई   दे  ।
👣सुख-सम्रद्धि👣

मोर   का   एक   पंख   किसी   श्री   राधा   कृष्ण   की   मूर्ति   के   मुकुट   में   40   दिन   के   लिए   स्थापित   कर   दें  ।   प्रतिदिन   मक्खन -मिसरी                का   भोग   सांयकाल   को   लगाएं  ।   41वें   दिन   उसी   मोर   के   पंख   को   मंदिर   में   पूजन   करके   घर   लाएं   और   अपने   खजाने   या  लाकर्स           

में   स्थापित   करें  ।  आप   स्वयं   ही   अनुभव   करेंगे   कि   धन ,   सुख – शांति   कि   वृद्धि   हो   रही   है  ।   सभी   रुके   कार्य   भी   इस   प्रयोग   के        कारण   बनते   जाते   हैं  ।
👣सुख-सम्रद्धि👣

कालसर्प   दोष   को   दूर   करने   की   मोर   पंख   में   अद्भुत   क्षमता   होती   है  ।   कालसर्प   दोष   से   पीडि़त   व्यक्ति   अपने   तकिए   के   खोल  के         भीतर   मोर   पंख   रखना   चाहिए  ।   यह   कार्य   सोमवार   की   रात्रि   को   करना   चाहिए  ।   प्रतिदिन   इसी   तकिए   का   प्रयोग   करें  ।   इससे     कालसर्प   दोष   का   प्रभाव   क्षीण   हो   जाता   है ।  अपने   बेड   रूम   की   पश्चिमी   दीवार   पर   मोर   के   पंख   का   पंखा   जिसमें   कम   से   कम             11   मोर   के   पंख   तो   हों  ,   लगा   देने   से   कालसर्प   दोष   के   कारण   आई   बाधा   दूर   होती   जाती   है  ।
👣सुख-सम्रद्धि👣

यदि   बच्चा   जिद्दी   हो   तो   मोर   पंख   को   छत   के   पंखे   के   पंखों   पर   लगा   दें  ।   पंखा   चलने   पर   मोर   के   पंखों   की   भी   हवा   बच्चे               को   लगेगी  ।   इसके   कारण   बच्चे   में   धीरे-धीरे   हठ   व   जिद   कम   होती   जाएगी  ।
👣सुख-सम्रद्धि👣

नवजात   बालक   को   एक   मोर   का   पंख   चांदी   के   ताबीज   में   डाल   कर   पहना   देने   से   बालक   डरता   नहीं   है   तथा   नजर   दोष   से  भी          बचा   रहता   है  ।💌
Vaid   Deepak   Kumar 
Adarsh   Ayurvedic   Pharmacy   Kankhal   Hardwar   aapdeepak.hdr@gmail.com

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In जीवन शैली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘ कुछ जीवन का इत्र छिड्को , आनंद से भर जाओगे ‘|

[1] ‘अपनों  में  सही  अपनों  को  ढूँढना, ‘बहुत  मुस्किल  काम  है ‘, R…