Home राजनीति मोदी सरकार के 3 साल का लेखा-जोखा जानिए !

मोदी सरकार के 3 साल का लेखा-जोखा जानिए !

20 second read
0
0
1,069

श्री  मोदी  जी,प्रधान मंत्री , भारत  सरकार  के  3  साल  मे  किए  कार्य     कलापों:-की  जानकारी  कुछ  इस  प्रकार  हैं  :-

1  परिवार वाद  और  जातिवाद  की  राजनीति  को  खत्म  किया  |

2  Politics  of Performance ”  के  नए  युग  की  शुरुआत  की  |

3। पिछले  3  वर्षों  में  1,37 लाख  करोड़  से  अधिक  की  कर  चोरी  का  पता   लगाया  |

4  प्रत्यक्ष  और  अप्रत्यक्ष  कारों  मे  अप्रत्याशित  कार्यवाही  की  जिसमें  23064  सर्च  सर्वे  किए  गए  |

इस  हेतु  आय कर  मे  17525  , सीमा  शुल्क  मे  2509 , केन्द्रीय

सीमा  शुल्क  मे  2509 , केन्द्रीय  उत्पाद  मे  1913 , सेवा कर  मे  1120 ,तथा

2814  मामलों मे  आपराधिक  मुकदमे  बनाए  गए  | 3893  लोगों  को  गिरफ्तार  भी  किया  गया   |

5  प्रवर्तन  निदेशालय  मे  धन  शोधन { money  londring }  निरोधी  कार्यवाहियों  मे  तेज़ी दिखाते  हुए   519  मामले  दर्ज़  किए  गए  और  396  सर्च  ऑपरेशन  किए  गए  | इसमें  79  मामलों  मे  गिरफ्तारियाँ  हुई  तथा  14933  करोड़  रुपये  की  संपत्ति  ज़ब्त  की  गयी  |

6  प्रतिशोध कानून पिछले 28 वर्षों तक निष्प्रभावी रहा | इसे नवम्बर 2016 से व्यापक संशोधन करके प्रभावी बनाया गया | इस कड़ी मे 245 से अधिक बेनामी लेनदेन का पता लगाया गया |124 मामलों मे 55  करोड़ रूपये मूल्य की संपत्ति  अस्थाई  रूप  से  ज़ब्त  की  गयी  है  |

7  कैश-लेस  लेनदेन  को  बढ़ावा देने  मे  भी  मोदी  सरकार  मुखर   रही  |

8  सरकार  ने  एक  सरल  ‘ भीम   एप ‘  लांच  किया  | करीब  2  करोड़  से  ज्यादा  लोग  ‘ भीम  एप ‘  से  जुड़  चुके  हैं  |

9  देश मे  100  करोड़  से  ज्यादा  फोन  हैं  जिसमें  39-40  करोड़  स्मार्ट  फोन  हैं  एवं  करीब  50  करोड़  इंटरनेट  के  उपभोक्ता   हैं  |

10  रेल  विभाग  से  कुल  2.15  करोड़  रेलवे  टिकिट  बूक  होते  हैं  जिसमें   एक  करोड़  पाँच  सौ  तीस  लाख  से  ज्यादा  ऑन  लाइन  बूक  होते  हैं  |

11  कुल  बैंक  अकाउंट  144  करोड़  हैं  जिसमें  117  करोड़ सेविंग बैंक अकाउंट  हैं  |  कुल  जनधन  अकाउंट  28.02  करोड़  हैं  | 140  करोड़  बैंक  खाते  आधार  कार्ड  से  जुड़  गए  हैं  |

12  आज  कुल  आधार  कार्ड  की  संख्या  113  करोड़  से  ज्यादा   है  |

13  कुल  पी ओ  एस  की  संख्या  20,13  लाख  थी  जिनमें  1ओ  लाख  नई  मशीन  मार्च ,2017  तक  और  जोड़  दी  गयी  |

14  आज  देश  मे  5,7करोड़  ई-वालेट  यूजेर्स  हैं  |

15  देश  भर मे  110.6 करोड़  डेबिट-क्रेडिट  कार्ड  हैं  |

16  आज  देश  मे  21.9  करोड़  लोगों  के  पास  ‘रूपे -कार्ड  हैं  जिसका  प्रयोग  40%  तक और  बढ़  गया  है  |

17  मोदी   सरकार  के  प्रयासों  से  भारत ‘विद्युत  का  निबल  निर्यातक  बन   गया  है  |  वर्ष  2016-17  के  दौरान  भारत  ने  नेपाल  , बंगला-देश  और  मियामार  को  578.8 करोड़  यूनिट  बिजली  निर्यात  की  है  |  इतना  ही  नहीं  पिछले  वर्ष  की  तुलना  मे  पवन  ऊर्जा  मे  5400  मेघावाट  की  रिकार्ड  वृद्धि  हुई   है  |

18  केन्द्र  सरकार  ने  गत  2  अप्रैल ,2017  को  जम्मू-कश्मीर  मे  भारत  की  सबसे  लंबी  चेनानी – नौसरी  राज मार्ग  सुरंग  राष्ट्र  को  समर्पित  की  | इसे       भारत  सरकार  की  ‘ मेक इन  इंडिया ‘ और  ‘ कौशल  इंडिया ‘  पहल  के  एक   आदर्श  उदाहरण  के  रूप  में  समझा  जा  रहा  है  | यह  1200  मीटर  की  उचाई  पर  बनी  सुरंग  है  जो  41  किलोमीटर  की  सड़क  दूरी  कम  करेगी  |

19  नए  वर्ष  2017  मे ‘जी  एस  टी ‘की  प्रभावी  शुरुआत  भी  एक  लाभकारी  कदम  है  | पूरे  देश  में  एक  समान  टैक्स  व्यवस्था  लागू  करने  का  भागीरथ  प्रयास  किया  जा  रहा  है  |

20  पिछले  3  वर्षों  में  मोदी  सरकार  ने  करीब  55  नई  योजनाओं  को  देश  को  समर्पित  किया  है  जो  देश  के  विभिन्न  पहलुओं  का  आंकलन  करके   लागू   किया  और  देश  की  आम  जनता  को  लाभान्वित  किया  |

21  मुद्रा  योजना  के  तहत  7  करोड़  लोगों  को  ऋण  दिया  गया  जिनमें  करीब  70 %  महिलाएँ  हैं  |

22  उज्जवला  योजना  में  2  करोड़  से  ज्यादा  महिलाओं  को  रसोई  धुआँ   से  मुक्ति  मिल  चुकी  है  |

23  जन-धन  खाते  से  25  करोड़  से  भी  अधिक  लोगों  को  इस  प्रणाली  से जोड़ कर लाभान्वित किया गया  है  |

24  स्वच्छता  अभियान  के  माध्यम  से  पूरे  देश  को  स्वश्च्छ  बनाने  की  परंपरा  का  आरंभ   किया  जो  कामयाबी  के  नए  आयाम   छूता   नज़र  आ  रहा  है

25  पारदर्शिता  के  माध्यम  से  अनेक  योजनाएँ  गाँव , गरीब ,और  मजदूर   समेत  सभी  को  ध्यान  में  रख  कर  बनाई  गयी  जो  धर्म निरपेक्ष  है   इसमें  ‘ सबका  साथ  सबका  विकास ‘  का  प्रारूप  प्रेति लक्षित  होता  नज़र   आएगा  |

26  एक  नए  प्रयास  के  तहत ‘व्यावसायिक  शिक्षा’,’प्राविधिक  शिक्षा’ के  साथ-साथ  ‘कौशक  विकास  का  प्रशिक्षण’ देने  का  और ‘रोजगार  के  अनेक  अवसर’ प्रदान  किए  जाएंगे  |

27  राजनीति  का  अपराधिकरण  और  अपराधियों  का  राजनीति करण   कम  से  कम  करके  हर  हाल  में  ‘ कानून  का  राज  ‘ स्थापित  करने  का  प्रयास  जारी है  |

28’ काले धन ‘और ‘भ्रष्टाचार’ से  निबटने  के  लिए  ‘ नोट  बंदी ‘  का  ऐतिहासिक  निर्णय  लिया  |

29  सालों  बाद  बेनामी  प्रोपेर्टी  पर  कडा  कानून  पास  हुआ  |

30  सेर्जिकल  स्ट्राइक  जैसे  सख्त  कदम  उठा  कर  आतंकवाद  को  मुंहतोड़  जवाब  देने  का  कम  किया  |

31  2  करोड़  से  भी  अधिक  गरीब  महिलाओं  को  गॅस  कनैक्शन  दिये  |

32  जनता  के  हित  मे  ह्रदया -रोग  जैसी  बीमारियों  की  दवाइयों  में  80 %  तक  की  कमी   कराई  गयी |

33  कोयला  , स्पेक्ट्रम  , एफ  एम  ,नीलामियों  और  पर्यावरण  के  मामलों  मे   पूर्ण  पारदर्शिता  से  काम किया |

34  ग्रेड-3  और  ग्रेड-4  की  नौकरियों  में   इंटरव्यू  व्यवस्था   खत्म  की  |

35  दशकों  से  लंबित  ‘ ओ आर ओ पी ‘  की  मांग  पूरी  कर   देशवासियों   को   लाभान्वित   कराया  |

36  जन-भागीदारी  से ‘स्वच्छ  भारत  मिशन ‘ एक  जन-आंदोलन  बना  |

37  भारत-  विश्व  की  सबसे  तेज़ी  से  बढ्ने वाली  अर्थ व्यवस्था  बनी  |

38  ‘मेक  इन  इंडिया ‘ मिशन  को  पूरे  विश्व  में  पहचान  मिल  रही  है  |

39  योग  को  विश्व  में  समर्थन  मिला  और  अब  उत्साह  से ‘विश्व  योग  दिवस ‘ मनाया   जा  रहा  है  |

40  ‘भारत माला ‘  और  ‘ भारतम  प्रोजेक्ट ‘  से  देश  का  हर  कोना  जुड़  रहा  है    है  |

41 100  स्मार्ट  सिटी ‘  बनाने  की  योजना  को  योजना बद्ध  तरीके  से  आगे  बढ़ाया  जा  रहा  है  |

42  देश  में ‘ 109 केन्द्रीय  विद्यालय ‘ ,’ 62  नवोदय  विद्यालय ‘, ‘7  आई आई एम ‘,और ‘ 6  आई आई टी ‘ बनाए  जा  रहे  हैं  |  शिक्षा  के  छेत्र  में  नए  आयाम  देने   का  प्रारूप  तैयार  किया  है  और  तुरंत  कार्य  भी आरंभ  कर  दिया  है |

43  मंडियों  को  सीधे  किसानों  से  जोड़ना , ई-NAM  से  किसानों  की  फसल  का  पूरा  दाम , नीम-कोटेड  यूरिया  कम  दामों  पर उपलब्ध  कराना  तथा  अनेक   किसानों  के  हित   के  कार्य   करते  रहना  सरकार  की प्रार्थिकता  है  |

44  जल मार्गों  का  ट्रांसपोर्ट  के  लिए  विकसित  कराना , रेल मार्गों  का  विस्तार , ग्रामीण  सड़कों  के  निर्माण  में  तेजी , बड़े  शहरों  को  मैट्रो  की  सुविधा  जैसे  अनेकों  विकास  कार्य  |

45  Insolvency  / Bankrupsy  कानून  मे  जरूरत  के  अनुसार  सख्त  और  बड़े  कदम  उठाना  u|

46 ‘ एफ  डी  आई ‘  क़ानूनों  मे  बड़ा  उदारीकरण  |

47 ‘ कलेधन धन ‘  और ‘ भ्रष्टाचार ‘  के  खिलाफ  बड़े  कदम  |

48  ‘ सबकी  सुरक्षा , सबका  ख्याल ‘ करने  वाली  सरकार  देने  का  प्रयास  |

मोदी  सरकार   के  पिछले   3  वर्ष – कोन्फ़िडेंस । कमिटमेंट ,

और  करेक्टर ‘  से  भरपूर  रहे  | अर्थ-व्यवस्था  , सामाजिक  परिवर्तन  और   भ्रष्टाचार  के  विरुद्ध  लड़ाई  हो  या  विदेश  नीति  या  आतंकवाद  के  खिलाफ  कड़ी  कार्यवाही  हो , अभी  तक  की  सबसे   सफल  सरकार  नज़र  आती  है  |

ज़ीरो  टोलरंस  की  नीति  , स्वच्छता  कार्यक्रम  , अल्पसंखयक  समुदाय  की  सेवा  हर  व्यक्ति  तक पहुँच  जाने  की  नीति , गरीबों  की  आंखो   मे  खुशी  , जिंदगी  की  खुशहाली  का  कमिटमेंट ,सबकी  सशक्तिकरण  का   रास्ता , भ्रष्टाचार  व  बेईमानी  पर  रोक  के  प्रयास ” जैसे  कार्यक्रमों   ने  मोदी  की  सरकार  को  और  उन्नत  कदम  उठाने  को  प्रेरित  किया

विशेष  :-  न  लूट , न  गड़बड़झाला  , न  काला  धन , न  बेईमानी  ,   हवाला  वारदातों  मे  कमी  करा  कर  विकास  की  धारा  को आगे  बढ़ाने  मे  सरकार  का  करेक्टर  सही  नज़र  आता  है  | इतने  बड़े  देश  मे  एकदम  सबकुछ   ठीक  हो  जाए  यह  संभावना  नहीं  बनती  फिर  भी  देश  धीरे-धीरे   विकास  की  पटरी   पर  आगे  बढ़ता   नज़र  आता  है   |

जय  हिन्द  !  जय  भारत  !  जय  जवान  !  जय  किसान  

  ” साभार  “— ”  दैनिक   समाचार – पत्रों   का  समूह  “

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…