Home ज़रा सोचो “मैडिकल सेवाओं की हेरा फेरी ” ! ‘कब तक और क्यों चलनी चाहिए ‘ ?

“मैडिकल सेवाओं की हेरा फेरी ” ! ‘कब तक और क्यों चलनी चाहिए ‘ ?

0 second read
0
0
1,148

 

मैडिकल  जगत  को  इंसानियत   का  दूसरा  नाम  बताया  जाता  है ” ,

“ये  सब कसाई  बन कर नैतिकता  की सारी हदें  पार  करते जा रहे  हैं “,

“पैसे  के चक्कर में मरीजों की जान लेते हैं” ,”कानून खिलौना है उनका” ,

“ममता काँप उठती  है”, “इंसानियत शर्मशार  है”,”पूरा कानून शांत  है ” |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…