Home Uncategorized ‘मुस्लिम महिलाओं की समस्याओं पर ध्यान देने की जरूरत है “|

‘मुस्लिम महिलाओं की समस्याओं पर ध्यान देने की जरूरत है “|

0 second read
0
0
900
 
हम  में  इतनी  ताकत  नहीं  है  कि  हम  पूरा  हिन्दुस्तान  को  सुधार  दें  !!
 
लेकिन  इतनी  ताकत  जरूर  है  जिसने  सुधारने  की  कसम  खाईं  है  उसका  साथ  दे !   आज  हमारे  पास  मोदी  से  अच्छा  विकल्प  नहीं  है ।                   
हम   दो   हमारे   दो   मुस्लिम   समुदाय  की  महिलाओं  एवं  युवतियों  को   नरक   भरी   जिंदगी   से   निजात   दिलायेगी  । सुंदर, सुखी  जीवन   बच्चों  का उज्जवल   भविष्य  है ।  लगता  है  मुस्लिम   समुदाय   की   महिलाओं   को   इज्जत   व   तीन   तलाक़   से   आजादी   नहीं  चाहिए   यदि   आजादी  चाहिए       तो   आन्दोलन   करें |  हक़   के  लिए   आवाज   उठानी   पड़ती   है  ।   इसके   लिए   मुस्लिम   समाज   कोशिश   कर   एक   देश  भक्त   होकर   एक   दूसरे के   साथ   देने   के   लिए  ‘ एक   देश   एक   कानून ‘  के   लिए   मुस्लिम   समुदाय   को   भी   आगे   बढ़कर   एक   देश   एक   कानून   लागू   करने   की  जरूरत  है।
 आदरणीय  श्री  आबादी   नियंत्रण   सभी   समुदायों   पर   भी   लागू   होना   चाहिए  ।   एक   देश   एक   कानून   हो  ।  औरतों   महिलाओं   पर   जुर्म   ढाना  रोकें । महिलाओं   को   इज्जत   दे   महिलाओं   को   आंदोलन   धरने   सत्याग्रह   करने   चाहिए  |   महिलाओं   को   खुद   मजबूत   होना   चाहिए   ताकि   मर्दों   के जुर्म   से   अधिकतम   सीमा   तक   बचाने   की   कोशिश   की   जा   सकती   है  | 
 
 देशभक्तों   मुस्लिमो   का   संगठन   की   पुकार 
“एक   देश   एक   कानून ”   राहुल गांधी   प्रियंका वाड्रा   कांग्रेस  तथा  अन्य   धर्मों   की   पार्टियां    क्या   मुस्लिम   समुदाय  ,   इत्यादि   इत्यादि   धर्म   की महिलाओं   को   इज्जत  , हक  , बहुत  विवाह ,  तीन  तलाक़  ,  नसबंदी  कराने  की ,  फैशन  करने  की  ,  बुर्का  शिक्षा   इत्यादि   का   हक   के   लिए   प्रेरित, प्रयास  ,  कोशिश ,  सत्याग्रह  रैलियाँ  , मिटिंग , आंदोलन   करें ।   ताकि   महिलाओं   को   सिर्फ   बच्चों   को   पैदा   करने   की   मशीनरी   नहीं   समझे |      महिलाएं   हैं   कोई   सिर्फ   बच्चा   पैदा   करने   की   मशीनरी   नहीं   है  ।   आवाज़   बुलंद   समाचार   पत्रों   में ,  मिडिया   में   करें   ताकि   महिलाओं   मैं  जागृति   पैदा   हो  ।    
  मोदी   को   मुसलमानों   से   नफरत   अगर   होती   तो   अफगानिस्तान ,  ईरान  ,  इराक  ,  बलोचिस्तान  हमारा   दोस्त   न   होते   !  भ्रम   से   दूर   रहो  ।   
 
मुस्लिम   महिलाओं   की   शिक्षा   ही   मुस्लिम   समुदाय   को   सुधार   सकतीं   हैं  ।   पूरा   विश्व   के   लोगों   को   प्रयास   कोशिश   करनी   चाहिए   तो   ही  विश्व   का   कल्याण   हो   सकता   है  ।
 मुस्लिम   समाज   की   महिलाओं   को   इज्जत   चाहिए  ,   बुर्के   से   आजादी   चाहिए  |  मेकअप ,  स्कूल   इत्यादि  सुविधाएं   चाहिए  ,   तीन   तलाक़   से   छुटकारा   चाहिए   हम   दो   हमारे   दो   का   कानूनी   अधिकार   चाहिए  ,   कहती   हैं   कि   मर्दों   ने   हमें  बच्चें  पैदा करने   की   इंडस्ट्रीज   की   मशीनरी   समझते   हैं  ।   हम   दो   हमारे   दो   मुस्लिम   समुदाय   की   महिलाओं   एवं   युवतियों   को   नरक   भरी   जिंदगी   से निजात   दिलायेगी  ।  सुंदर  सुखी  जीवन   बच्चों   का   उज्जवल   भविष्य   है  । 
 आदरणीय   श्री   आबादी   नियंत्रण   सभी   समुदायों   पर   भी   लागू   होना चाहिए  ।   एक   देश   एक   कानून   हो  ।   औरतों   महिलाओं   पर   जुर्म   ढाना   रोकें  ।   शिक्षा   के   होते   हुए   जिहादी   गतिविधिया   ख़त्म   हो   जाएँगी       ये   डर   है   ।   महिलाओं   के   प्रति   दमनात्मक   तरीके   से  अपना   उल्लू   सीधा   नहीं   कर   सकते   हैं  |
 बीती   बातें   बिसार   दे   आगे   की   सुधि   लें  |  कोशिश   रंग   लायेगी  , कोशिश   करें   मुस्लिम   महिलाओं   की   शिक्षा   ही   मुस्लिम  समुदाय  को  सुधार सकतीं   हैं  ।   पूरा   विश्व   के   लोगों   को   प्रयास   कोशिश   करनी   चाहिए   तो   ही   विश्व   का   कल्याण   हो   सकता   है  ।   मुस्लिम   समाज   की  महिलाओं को   इज्जत   चाहिए  ,   बुर्के   से   आजादी   चाहिए   मेकअप  ,  स्कूल   इत्यादि   सुविधाएं   चाहिए  ,   तीन   तलाक़   से   छुटकारा   चाहिए   हम   दो   हमारे   दो का   कानूनी   अधिकार   चाहिए  |
आदरणीय   श्री   आबादी   नियंत्रण   सभी   समुदायों   पर   भी   लागू   होना   चाहिए  ।   एक   देश   एक   कानून   हो  ।   औरतों   महिलाओं   पर   जुर्म   ढाना रोकें  ।   शिक्षा   के   होते   हुए   जिहादी   गतिविधिया   ख़त्म   हो   जाएँगी  ,   ये   डर   है ।  महिलाओं   के   प्रति   दमनात्मक   तरीके   से  अपना   उल्लू  सीधा नहीं   कर   सकते   हैं  |

 

 

 

 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…