Home ज़रा सोचो भूल सुधारने का प्रयास

भूल सुधारने का प्रयास

0 second read
0
0
1,290

{  1  }

” भूल ”   को   कबूलना  “फूल ”  की   मानिंद    समझ  ,  अपनी  ” भूल ”  को   भूलना  ” भूल ”  है  ,

अगर   तुम्हारे  जीवन  मे  कोई  ” भूल ”  हो  जाए  ,  तुरंत  उसे   सुधार   करने  की   तामील   कर  |

{  2  }

‘मैं    कभी    भूल    नहीं     करता’  ,  ‘ यह    दावा ‘ ‘  सफ़ेद    झूठ    ही    मानों ‘ ,

‘जो    कोई’ ‘ कुछ    करने    का   प्रयास   करेगा ‘, ‘ भूल    होना    स्वाभाविक    है ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…