Home कोट्स Spirituality Quotes “भगवान की कृपा ” कुछ छंद !

“भगवान की कृपा ” कुछ छंद !

1 second read
0
0
1,181

{1}

“यदि  अफसाने  गिनोगे’ ‘ तो उम्र  बीत जाएगी तेरी” ,
“इम्तिहान  देता चल” ,” परिणाम  प्रभु स्वम दे देंगे” ,
“जरूरी  नहीं दुनियाँ  की  हर चीज  हासिल  हो  तुझे “,
“जितना मिला “”उसे प्रभु का  प्रसाद समझ कर ‘जी’ |

{2}

“मेरी  पलकों  में  बसे  रहते  हो  “,”  दिल  का  उजाला  हो  तुम” ,
“तेरे लबों  की  मुस्कान  हमें ” ” मोहे    बिना  रहती  नहीं  कभी ” ,
“प्रभु” ! ” तेरी  आरजू  में  मेरा  दिल “,” बेसब्री  से  धड़कता  है ” ,
“अपने  दर  का  तुच्छ  प्राणी  जान  “,”  कृपा बरसते रहो दाता” |

{3}

“प्रभु  को  आँखों  में  बसा  लोगे  ” तो ”  कभी  रोना  नहीं  पड़ेगा  ” ,
” हर  छण  आनंद  में  बीतेगा  “,” चिंता-मुक्त  जीवन  होगा  तेरा ” |

{4}

“सदा सत्कर्म में लगा रहूँ “,” ऐसी कृपा कर दो प्रभु “,
“बुरे काम करते थक गया हूँ “,” खुद से घ्रणा है मुझे “|

{5}

“हर  प्राणी  प्यार   का  भूखा  है “, ” यह  निर्विवाद   सत्या  है “
“प्रभु  भी  बेचैन  रहते  हैं ” , “अपने  भक्त का  प्यार  पाने  को ” |

{6}

“ये   प्रभु   का   प्यार   है   जो   हर   किसी   के   भाग्य   में   नहीं   होता ” ,

“राधा”-तो “कई  जन्मों  की  प्यासी  थी”‘इस  प्यार  को  पाने  के  लिए “|

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Spirituality Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…