Home विशेष नोट- बन्दी

नोट- बन्दी

0 second read
0
0
1,130

पिछले  70  साल  से  देश  की  जड़ों  मैं  घर  कर  चुकी  भ्रष्टाचार   की  बीमारी  को   जड़  से  समाप्त करने के  लिए ; पुराने  नोट बन्दी  ‘  की  कड़वी  दवा  का  घूंट  दूरगामी  परिणाम  निश्चित  रूप  से  देगा  | इतिहास  गवाह  है  किसी  भी  गहरी  समस्या  का  समाधान  सरल  उपायों  से  असम्भव  है  | जिस  तरह  के  हालात  देश  मैं  बने  हुए  हैं  उसके  मध्येनजर  बेहद  सख्ती  लिए  कदम  उठाना  उचित  और  सराहनीय   है  |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In विशेष

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…