Home ज़रा सोचो “नये साल में सभी स्वस्थ हों ,स्वावलंबी हों “प्रभु से प्रार्थना है !

“नये साल में सभी स्वस्थ हों ,स्वावलंबी हों “प्रभु से प्रार्थना है !

1 second read
0
0
1,169

सभी  से  अपील 

मित्रों  ! नए  वर्ष  से  यदि  आप  नीचे  लिखी  बातों  का  ध्यान  

रक्खेंगे  तो  जीवन  आनंद  से  जिया  जा  सकता  है :-

{1} प्रतिदिन  कुछ  समय  सैर  और  व्यायाम  हेतु   अवश्य  निकालें  |

{2} ध्यान  रहे –  भोजन  संतुलित  और  पौस्टिक  होना  चाहिए  |

{3} शीतल  पेय  बंद  कर  दें  और  अधिक  से  अधिक  नींबू  पानी   व  ताज़े  फलों  का  रस   पीवें  |

{4} अचार , मक्खन  ,  सांस  , चीज   से  बचाने  का  प्रयास  करते  रहें  |

{5} नमक , चीनी  और  तेज़  मशालों  का  सेवन  कम  से  कम  करें  |

{6} भोजन  करने   में  जल्दबाज़ी  न  करें  , धीरे-धीरे  चबा  कर  मज़ा  लेते  हुए  खाएं  |

{7} तले  भोजन  और  फास्ट  फूड   को  त्याग  दें  |

{8} थोड़ी  देर  जाने  के  लिए  रिक्शा  , स्कूटर  पर  निर्भर  न  रहें  |  पैदल  चलें  |  ऊपरी  मंज़िल  पर  जाना   हो  तो  यथा  सम्भव  सीढ़ियों  की  प्रयोग  करें  |

{9} सुबह  की  चाय  के  स्थान  पर  गुनगुने   पानी   में  नींबू  और  शहद   मिला   कर  पीने   का  अभ्यास   करें  |

{10} भोजन  में  हरी  सब्जियाँ  , दाल  और  ताज़े  मौसमी  फलों  को  महत्व  दें |

}11} चाकलेट  , आईस्कीम  और  मिठाई  से  सेवन  से  बचें  |

{12} प्रतिदिन  कम  से  कम  6–8  गिलास  ताजा  पानी  जरूर   पीये  |

{13} मीट  के  स्थान   पर   चिकन  और   फिश  का  सेवन   करें  |

{14} रात्री  का  भोजन  सोने  से  2  घंटे  पहले  कर  लें  ताकि  पच  जाए  |

{15} रोजाना  अपना  स्वम  का  आंकलन  जरूर  करें  | जो  गल्ती  आज  की  है  वह  कल  न  दोहराई  जाए  |

{16} रेशेदार  वस्तु  , चोकर  युक्त  आटा  , दलिया  ,  ब्राउन  ब्रेड  प्रयोग  में   लाएँ  तथा  मैदा  से  बनी  वस्तुओं   का  सेवन  कम  से  कम   करें  |

यदि   आप  उपर्युक्त   प्रकार  से   जिएंगे   आपका   स्वास्थ्य   उत्तम    रहेगा   डाक्टरों   के   पास  नहीं   भागना   पड़ेगा  | 

मेरी   प्रभु   से   प्रार्थना   है  –”  सभी   दीर्घायु   हों  , स्वस्थ   हों ,    सुखमय   हों  , हमसाया   हों ,  सदा   प्रसन्नचित्त    रहें  |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…