Home शिक्षा इतिहास ‘ धारा – 370 ” क्या है ? जरूर समझिए ‘ ! देश के हर नागरिक को जानना चाहिए !

‘ धारा – 370 ” क्या है ? जरूर समझिए ‘ ! देश के हर नागरिक को जानना चाहिए !

14 second read
0
0
320
“धारा 370″( पढ़ कर आगे औरों के शेयर करे) “जरूर जानिए”
[1]
जम्मू-कश्मीर के नागरिकों के पास दोहरी नागरिकता होती है । 
[2]
जम्मू-कश्मीर का राष्ट्रध्वज अलग होता है |
[3]
जम्मू – कश्मीर की विधानसभा का कार्यकाल 6 वर्षों का होता है जबकी भारत के अन्य राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है । 
[4]
जम्मू-कश्मीर के अन्दर भारत के राष्ट्रध्वज या राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान अपराध नहीं होता है । 
[5]
भारत के उच्चतम न्यायलय के आदेश जम्मू – कश्मीर के अन्दर मान्य नहीं होते हैं |
[6]
भारत की संसद को जम्मू – कश्मीर के सम्बन्ध में अत्यंत सीमित क्षेत्र में कानून बना सकती है । 
[7]
जम्मू कश्मीर की कोई महिला यदि भारत के किसी अन्य राज्य के व्यक्ति से विवाह कर ले तो उस महिला की नागरिकता समाप्त हो जायेगी । इसके विपरीत यदि वह पकिस्तान के किसी व्यक्ति से विवाह कर ले तो उसे भी जम्मू – कश्मीर की नागरिकता मिल जायेगी ।
[8]
और – धारा 370 की वजह से
[a ]
कश्मीर में RTI लागु नहीं है ।
[b]
RTE लागू नहीं है ।
[c]
CAG लागू नहीं होता ।
[d]
भारत का कोई भी कानून लागु नहीं होता । 
[e]
कश्मीर में महिलाओ पर शरियत कानून लागु है ।
[f]
कश्मीर में पंचायत के अधिकार नहीं ।
[g]
कश्मीर में चपरासी को 2500 ही मिलते है.|
[h]
कश्मीर में अल्पसंख्यको [ हिन्दू- सिख ] को 16 % आरक्षण नहीं मिलता । 
[i]
धारा 370 की वजह से कश्मीर में बाहर के लोग जमीन नहीं खरीद सकते है । 
[j]
धारा 370 की वजह से ही पाकिस्तानियों  को भी भारतीय नागरिकता मिल जाता है । इसके लिए पाकिस्तानियो को केवल किसी कश्मीरी लड़की से शादी करनी होती है । 
[k]
अच्छी शुरुवात है कम से कम 370 हटाने की दिशा में एक कदम आगे की ओर मोदी जी को धन्यवाद जो उन्होनें धारा 370 का मुद्दा उठाया । अब यदि कोई सेकुलर इन तथ्यों के विषय में कुछ कहना चाहे तो स्वागत हैं…!!!
370 धारा हटाना ही है…. इसलिए मेसेज को ज्यादा से ज्यादा फैलाओ
कश्मीर में आप तिरंगा नहीं फहरा सकते,
कन्याकुमारी में रिक्शे के पीछे आप जय श्री राम नहीं लिख सकते,
हैदराबाद में मन्दिर की आप घंटी नहीं बजा सकते,
कलकत्ता में आप अपने घर के दरवाजे पर बजरंगबली की मूर्ति नहीं लगा सकते.
फिर कैसे कहूं की कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत एक है ??
65 सालो के इतिहास में :- पहली बार जिसने खुल के 370 का विरोध किया हे । तो उसका साथ दीजिये ।
द्वारा   “-
सुशील कुमार सराओगी, पत्रकार, दिल्ली
[आपको सिर्फ 3 लोगो को मेसेज जरुर करना है , जनहित का ये मेसेज सिर्फ आप सब के पढने के लिए नहीं है…. आगे क्या करना है इस मेसेज का, आप खुद समझदार है ] |
भारत माता की जय

 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

” मन को बुरे कामों से बचाना , मंथन करना बेहद जरूरी हैं ‘ |

[1] ‘ धन , परिवार ‘ आपको  नहीं  बांधता ,’ कोई  पदार्थ ‘ नहीं  जो  …