Home कविताएं देशभक्ति कविता “देश भक्तों की पूरी कमान चाहिए इस देश को “|

“देश भक्तों की पूरी कमान चाहिए इस देश को “|

1 second read
0
0
1,162

पिशाच भी अपनी माँ-बेटी , बहनों पर’ ‘अत्याचार नहीं करता’ ,
‘चरित्र की गरिमा’ ‘इतनी रसातल मे चली जाएगी’,’सोचा न था’ ,
‘आज के परिपेक्ष मे’ ‘ हमारे देश के कानून कामयाब नहीं लगते ‘ ,
‘जाँबाज देश भक्तों की पूरी कमान चाहिए’,’उलट-पलट करने के लिए’ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In देशभक्ति कविता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…