Home कोट्स Motivational Quotes “जीवन के अनेकों पहलू { जरा सोचिए }”

“जीवन के अनेकों पहलू { जरा सोचिए }”

1 second read
0
0
976

[1] 

 रिस्ते ‘,’ ह्रदय ‘,’ वचन ‘,’ विश्वास ‘ ,’ टूटने  मत  देना  कभी ‘,
‘इनके टूटने की आवाज़ नहीं आती ‘,’इंसान जरूर टूट जाता है ‘|

[2]

‘अडिग रह कर आगे बढ़े तो रास्ते आसान होते जायेंगे’,
‘ खुद  पर  विश्वास  तुझे  हर  मंजिल  से  मिला  देगा  ‘|

[3]

‘आपके लिए-‘किसी की आँख  से  निकला  आंसूँ बेसकीमती  है ‘,
‘आपके  कारण -‘दर्द  से  आंसूँ  निकलें  ‘जीना  तेरा  बेमानी  है ‘|

[4]

‘अपनी  आत्मा  को  झिंझोड़िए  यह  परमात्मा  का  स्वरूप  है ‘,
‘इसको  बचाओ , सुंदर  बनाओ , अपने  व्यवहार  से  सजाओ ‘|

[5]

‘जब  भी  हम  किसी  से  अपनी  शुभ  कामनाएँ  प्रदर्शित  करते  हैं ‘,
‘मंगलकारी  वातावरण  स्वतः  हमारे  मन  में  प्रवेश  कर  लेता  है ‘|

[6]

‘जब   याद  के  पल  घेर  लेते  हैं  चेहरा  गमगीन   हो   ही  जाता   है ‘,
‘काश ! हमें  समझने  का  मौका  तलाश  कर  लेते  तो  अच्छा  था ‘|

[7]

‘ भीड़  का  हिस्सा  मत  बनो  , शेर  बन  करके  जियो  ‘, 
‘प्रकाश का इंतज़ार किसलिए ,खुद प्रकाश बन कर उभर ‘|

[8]

प्रभु उवाच –
‘यूं  तो  गलीचे  बिछा  कर  सभी  मेरा  गुणगान  करते  हैं ,’
‘जो  प्रेम  से  भरपूर  होते  हैं  मैं  मेहरबान  हूँ  उन  पर  “|

[9]

‘सत्य’  बहस  का  विषय  नहीं  होता ,’प्रभावित  करने  हेतु  भी  नहीं ‘,
‘ सत्य ‘ सदा  ‘ सत्य ‘  रहता  है ‘ ,’कोई  रंग  नहीं  चढ़ता  उस  पर ‘|

[10]

‘आँखें  भी   खुदगर्ज़  हैं  आंसुओं  को  टपका  ही  देती  हैं ‘,
‘हँसती  आँखों  से आँखें  चार  होती हैं ,तो  मुस्कराती  हैं ‘|

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…