Home ज़रा सोचो जिसके मन में हमेशा मुस्कराने का भाव’ होता है

जिसके मन में हमेशा मुस्कराने का भाव’ होता है

0 second read
0
0
1,295

‘जिसके मन में ‘ ‘हमेशा मुस्कराने का भाव’ होता है ,
‘उसे’ ‘ आशाएँ और आकांछाये ‘, ‘कभी परेशान नहीं करती’
सच्चे संस्कार ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी है ,
ऐसी धरोहर –जिसे कोई चुरा नहीं सकता कभी ||

Load More Related Articles
Load More By Tara Chand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धकेल देगा

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धक…