Home कोट्स Motivational Quotes जरूरतें सबकी पूरी होती हैं, बेहिसाब मांगोगे तो दर्द से रूबरू होना जरूरी है | कुछ जीवनोपयोगी छंद |

जरूरतें सबकी पूरी होती हैं, बेहिसाब मांगोगे तो दर्द से रूबरू होना जरूरी है | कुछ जीवनोपयोगी छंद |

1 second read
0
0
362

[1]

जरा सोचो
‘इंसान’ सभी ‘सामान्य’  है, सिर्फ  उनके ‘हुनर’ बोलते  हैं,
‘ परिंदे ‘  तो  सिर्फ  ‘ उड़ते ‘  हैं ,  उनके  ‘ पर ‘  बोलते  हैं !

[2]

जरा सोचो
‘लक्ष्य’  पर  तो  चले,  ‘निंदा”  सुनकर  पीछे  हटने  लगे , क्यों ?
‘कदम  दर  कदम’ बढ़ते  रहते, सही ‘ठिकाने’ भी  मिल  जाते !

[3]

जरा सोचो
‘भूखे’ को ‘रोटी’ नहीं, ‘युवकों’ को ‘काम’ नहीं, ‘गरीबों’ को ‘इलाज’ नहीं,
‘ मंदिर ‘- ‘ धन ‘ से  लबालब , यह ‘ भारत ‘  है, कोई ‘बूचड़खाना’ नहीं !

[4]

जरा सोचो
चलो  कुछ  आज  ‘ अच्छा ‘  करें , कुछ  ‘बुरा’  भूल  जाएं,
‘मुस्कुराए’ जमाना  गुजर  गया, आज  चलो ‘मुस्कुराएं’ !

[5]

जरा सोचो
‘जरूरत’  सबकी  पूरी  होती  है,  ‘भूखा’  कोई  नहीं  सोता,
‘बेहिसाब’  चाहोगे  तो  ‘ दर्द  से  रूबरू ‘  होना  जरूरी  है !

[6]

जरा सोचो
कितनी  भी  ‘ पूजा ‘  कर ,  चाहे  कितने  भी  ‘ घंटे ‘ बजा,
‘इंसानियत’ का ‘दीप’ नहीं जलाया, तो ‘बेकार’ है सब कुछ !

[7]

जरा सोचो
‘एक  दर्द’  बार  बार  मिले  तो ,  ‘झल्लाना’  बंद  करना  चाहिए,
तू  ही ‘झल्ला’ है ‘समझा’ नहीं, प्रभु ! ‘कुछ और’ चाहते हैं तुझसे !

[8]

जरा सोचो
‘तुम’ श्रद्धा  से  झुका  सिर, सहयोगी  हाथ, आंखों  में  स्नेह, और  सन्मार्गी  हो ,  तो  तुम  सा  ‘ धनी ‘  कोई  नहीं !

[9]

जरा सोचो
                                            सैकड़ों  गिलास  ‘पानी’  पीने  के  पश्चात, ‘एक  बूंद  आंसू’  दरकता  है ,  इसलिए  कुछ  ‘बोलने’  और ‘कदम’                                              उठाने  से  पूर्व  एक  बार  पुनः  ‘  विचार  ‘  करें  कि  इससे  किसी  का  ‘  दिल  ‘  तो  ‘ दुखी ‘  नहीं  होगा  !
[10]
जरा सोचो
स्वस्थ शरीर, शुद्ध कमाई, सर्वोत्तम पठन, और आत्म चिंतन,
जो  इन  ‘गुणों  का  भंडार’  है, वह  कभी ‘मौत’  से  नहीं  डरता !

 

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…