Home कोट्स Motivational Quotes ‘जरा सोचें ‘ !’ हम सब के जीवन में ये ही होता है ‘ !

‘जरा सोचें ‘ !’ हम सब के जीवन में ये ही होता है ‘ !

3 second read
0
0
905

[1]

‘सादगी  और  सहजता’ को  सामान्य  जीवन  का  हिस्सा  जानकर  जीयें ,’
‘जनबल , धनबल ,बाहुबल ‘ ‘खूबसूरत जीवन  के पहलू  नज़र  नहीं आते’|

[2]

‘सबकी भलाई में ही हमारी भलाई छिपी रहती है ,’सभी जानते  हैं’ ,
‘फिर  भी  दुष्कर्मों  से  सज़े  रहते  हो’ ,’शर्म  नाम  की  चीज  नहीं ‘

[3]

‘थोड़ा  नुकसान  सह  कर  भी’ ‘जो  भला  कर्म  करना  नहीं  छोडते ,’
‘ वो   लोग ‘,’अंधकार  में  आशा  की  किरण  बन  कर  उभरते  हैं ‘|

[4]

‘तुम्हारा केवल अपने बारे में सोच कर जीना भी कोई जीना है ,’
‘परोपकार,उद्धारक,कल्याणकारी’,’ बनने की कोशिश तो कर’ ,
‘तन, मन , धन का स्दुपयोग , ‘नेकी के रास्ते पर ले जाएगा’ ,
‘जब मिट्टी में मिल जाएगा’,’कौन पुछेगा’-तू परोपकार कर ‘|

[5]

मेरा विचार —
” गंभीर   बातों   के   समय   ‘खाना-पीना’ ,और   खाते-पीते   समय   ‘गंभीर बात’   करना  कदाचित  उचित  नहीं  | 

हर   बात   का   समय   होता   है  , उचित- अनुचित   कुछ   भी   घट   सकता   है  |  इसीलिए   समयानुसार  ‘ सार –

गर्भित  ‘ संवाद ‘, शालीनता  के  परिचायक  हैं ” |

[6]

‘जीवन  में  कितनी  अनचाही  होती  है 
कितनी  विपदाओं  से  सामना होता  है, 
‘प्यार ,नम्रता ,सब्र ,संतोष जैसे विशाल 
गुणों  को  अपनाने  की  जरूरत  है ” |

[7]

‘जो  स्नेह  को  स्नेह  से  सींचे’ ‘वह स्नेह का विस्तार करता है’ ,
‘जो जलेकटे बाणों से श्री गणेश करता हो’ ‘मानवता नहीं होती ‘|

[8]

‘बात कहने से पहले काट देते हैं ,
‘रूबरूँ होने का मौका ही नहीं देते ,,
‘आजकल सभी मगरूर रहते हैं ,
‘किसकी कौन सुनता है बता ‘ ?

[9]

‘पति  बाहर  कितना  भी  अक्खड़  हो’ ,’घर  में  शांत मिलता  है ,’
‘क्योंकि -उसे शान्त,चुप व नियंत्रित करने  का रिमोट घर में  है ‘|

[10]

‘भीड़ पहचान छीन लेती है’ ,
‘जरा हट कर प्रयास उत्तम है’ ,
‘चाहे तू ‘सोना’ बन कर उभर’ ,
‘या जीवन सोने में निकाल दे ‘|
[11]
  ‘डर को हावी न होने दें कभी ‘,’निडरता”प्रसन्नता की प्रणेता है ‘,
‘डर  को  चुनौती  समझ  कर’ ‘ललकारते  हुए  सदा  आगे  बढ़ो’|
Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…