Home कोट्स Funny Quotes जरा विचरिए कहीं ये आपके विचार से मिलते हों ! एक छोटी सा मंथन !

जरा विचरिए कहीं ये आपके विचार से मिलते हों ! एक छोटी सा मंथन !

4 second read
0
0
1,087

[1]

मित्रों ,
‘चाहे  मेरा हाल  मत पुछो  परंतु ‘अपना हाल  बता दिया करो ‘,
‘इतने  में  भी  तसल्ली  है  ,’समय  आराम  से  कट  जाता  है ‘|

[2]

‘ईंटें’- गलतफहमी की शिकार हैं’ ,
“इमारत उन पर ही खड़ी हुई है ‘,
‘सीमेंट,सरिया, मानव कर्म का वजूद’ 
‘समझती ही नहीं ‘ईंटे ‘|

[3]

मेरा विचार :-
” सज्जन  व्यक्ति  सदा  प्रसन्नता  ही  प्रदान  करते  हैं  परंतु  कुचरित्र  प्राणी  भी  अपनी  उड़ंदता  दिखा  कर  ,  उचित -अनुचित  का  ज्ञान                               करा   कर  विशेष  प्रकार  का  लाभ  पहुंचाने  का  कार्य  करता  है  |  अतः  किसी  के  विषय  में  विचार  व्यक्त  करने  से  पूर्व   ‘ सुविचार ‘                               जरूर करें ” |

[4]

‘ज्ञान ढूंढोगे तभी ‘अज्ञान’ कम होगा’ ,                                                                                                                                                                                   ‘अज्ञान का बोझ सिर पर चढ़ा रहा तो’ ‘ज्ञान को ढूंढते रह जाओगे’ |

[5]

‘आपके  बोले  शब्द’ और ‘किया  गया  व्यवहार’ ‘विचारणीय  है ‘,
‘मित्र या शत्रु’ ‘इन्हीं के द्वार से  निकलते हैं’ ,’ये ही कर्मस्थली है ‘|

[6]

‘हम सभी  विभिन्न धर्मों की  चिड़ियाँ सरीखे हैं पर  चहकते  ही  नहीं ‘,
‘एक -दूसरे  की  टांगें  खींचते  रहते  हैं ‘ ,’ जीने  का  सलीका  ही  नहीं ‘|

[7]

‘गलत को गलत कहने में संकोच’ ,
‘इंसानियत छीन लेता है ‘,
‘आप पूर्णतया अक्षम प्राणी हैं ‘,
‘आपकी प्रतिभा भी व्यर्थ है ‘|

[8]

‘तुम  कंकड़ों  को  तैरा  नहीं  सकते ‘, ‘घी’  को  डूबा  नहीं  सकते ‘,
‘सत्कर्मों  से   सदगती  ‘ और ‘दुष्कर्मों से दुर्गति’ निश्चित समझ ‘|

[9]

‘ध्यानपूर्वक दूसरों को सुनना ,समझना ,
‘प्रभावी संवाद का लक्षण है’,
‘हम भूल गए हैं की एक-दूसरे से जुड़े 
रहना ही ‘शांति’ की  जड़ है’|

[10]

‘दहाड़ कर हँसना ‘निराशा’ खत्म करने का निश्चित स्वरूप है’ , 
‘काश !  हम  सभी  यूं  ही  ‘मस्त’  हो  कर  ‘ जी  लिए  होते’ |

[11]

‘स्नेह का आदान-प्रदान अब सुंदर शब्दों के उच्चारण से ही संभव है’ ,
‘कर्कस  वाणी  आदमी  को  किसी  काम  का  नहीं  छोडती’ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Funny Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…