Home ज़रा सोचो जनसंख्या नियंत्रण कानून पर ध्यान दीजिये

जनसंख्या नियंत्रण कानून पर ध्यान दीजिये

14 second read
0
0
1,408

Hon’ble Prime Minister,
Sh Narender Modi ji,

मान्यवर,

आज  मै  आप  का  ध्यान  एक  बहुत  ही  गम्भीर  और  महत्वपूर्ण  विषय  की  और खींचना  चाहता  हूँ ।
ये  विषय  इतना  ज्यादा  गम्भीर  है  कि  इसका  हमारे  देश  की  राजनितिक, सांस्कृतिक  और  भोगोलिक  परिस्थिति  निर्भर  करती  है ।
और ये गम्भीर विषय है:-


जनसंख्या नियंत्रण?
सर  ,

ये   तो  आप  भली- भाँति  जानते  है  कि  हम  हिन्दू  परिवारों  मे  तो  अधिकतम  दो बच्चो  से  ज्यादा  पैदा  करना  हमारी  हैसियत  से  बाहर  है । हमारे  धर्म  मे  तो  दो बच्चों  को  पाल- पोस  कर  बड़ा  करना  एक  बहुत  बड़ी  महा-भारत  के  समान  है ।
लेकिन  इसके  विपरीत  मुस्लिम  समुदाय  का  तो  कोई  हिसाब  ही  नही  है । इनका यहाँ  तो  कोई  पाबन्दी  नही  है । इनके  यहाँ  तो  एक  आदमी  कम  से  कम  18-20 बच्चे  पैदा  करता  है । 3-3  शादियाँ  करते  है  । जो  कि  कानूनन  भी जायज  है। इनका  तो  मुख्य  उद्देश्य  अपना  मुस्लिम  बहुमत  बढाना  है ।  ऐसे  तो  बहुत  जल्द ही  हम  मुस्लिमो  के  गुलाम   हो  जाएंगे ।  इन्ही  की  सरकार  होगी  और  इन्ही  का राज   हो  जाएगा ।
इसी  सन्दर्भ   मे  ये  बहुत  ही  महत्वपूर्ण  है  कि  आपकी  सरकार  ने  प्रत्येक  महिला  के  प्रसव  पर  6000/-रूपये  का  अनुदान  स्वीकृत  किया  गया  है ।
जिसका  सबसे  अधिक  फायदा  केवल  और  केवल  मुस्लिम  समुदाय  को  ही  

होगा । क्योंकि  एक   व्यक्ति  की  3-4  पत्नियाँ  है   और  एक  महिला  15 से 20
बच्चो   को   जन्म   देती   है  ।  इस  प्रकार  एक  मुस्लिम  आदमी  को  3  लाख  

से  4  लाख   तो  प्रसुति  अनुदान    ही  मिल  जाएगा ।
इनका   तो   नारा  ही  है :
जिसकी  जितनी  संख्या  भारी,  उसकी  उतनी  हिस्सेदारी ?

सर , हमारे  साथ  ये  कैसा  और  कितना  बड़ा  अन्याय  है  कृप्या  ध्यान दीजिए:

1. भारत  देश  हम  हिन्दूओं  का  देश  है  हिन्दुस्तान।  लेकिन  आज  हम  अपने  ही देश  मे  पराए  हो  गए  है । जबकि  यहाँ   भाषा , जाति  या   बिना  किसी   लिंगभेद  सभी  रहते  हैं |
एक  हिन्दू  कोई  छोटा  सा  भी  अपराध  करे  तो  सारे  Media   वाले ,  हमारे   ही   हिन्दू  देशद्रोही  नेता  (Politician) ,  सक्रिय   हो  जाऐंगे । और  उल्टा   हिन्दूओ    को  भगवा  आतंकवादी ,  देशद्रोही   और   ना  जाने   क्या-क्या  डिग्रियों  से  हमें  नवाजेंगे  । यानि – चोरी  सीनाजोरी ?
इनके  विरुद  पुलिस ,  सरकार ,  सुप्रीम कोर्ट  भी  कोई  कदम  नहीं  उठा   पाते   ।

2. एक  हिन्दूस्तानी  होने  के  नाते  हम  अपना    टैक्स  ईमानदारी  से  भरने  का  प्रयास  करते  हैं  । जबकि  मुस्लिम  आबदी  से  Tax Colletion  ना  के  बराबर  है ।  हमारे  मन्दिरो  का सारा  चढावा  भी  इन्ही  लोगो  के  काम  आता  है ।
सर , कृपया  एक बार आप गम्भीरता से सोचिये:
मेरी   आप  से  विनम्र  विनती  है  कि  जनसंख्या  नियंत्रण  पर  जल्द  से  जल्द   संसद  मे  कानून  पारित  कराएं  और  प्रसुति  अनुदान  केवल  दो  बच्चो  तक  ही निर्धारित  करे ।
सबसे  महत्वपूर्ण  हमारे  अधिकारो  को  हनन  होने  से  बचायें
देश  को  सही  रास्ते  पर  ले  जाने  के  लिए  यह  प्रयास   सार्थिक  होगा  |

इस  छोटे   से  देश हित  के  प्रयास   के  लिए  छमा   प्रार्थी  हूँ  |

प्रार्थी :-

तारा चंद  कंसल

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…