Home ज़रा सोचो ” छोटी छोटी बातें मगर समझने के लायक हैं ” जरा सोचिए दोस्तों |

” छोटी छोटी बातें मगर समझने के लायक हैं ” जरा सोचिए दोस्तों |

0 second read
0
0
962

[1]

‘ हवन  कराते  रहे  परन्तु  लोगों  को  रुलाते  भी  रहे ,
‘तुम्हारी  आत्मा  भस्म  हो  जाएगी, हंसना  भूल  जायेगा. !

[2]

‘ यदि  ‘ दर्द ,  झेल  कर  भी  मुस्कराते  रहे  तो  सही  जी  जाओगे,
‘जिन्दा दिल  भुनभुनाते  नहीं, आयी मुसीबत  देख  सिर्फ  मुस्कराते  हैँ. !

[3]

‘ वर्तमान  पर  ध्यान  नहीं , भूतकाल  में  गोते  लगाते  हो,
‘किसी  को  भविष्य  का  पता  नहीं, क्या  होगा  कभी  सोचा ‘?

[4]

‘अच्छा  दिखाने  की  नहीं, अच्छा  बनने  का  प्रयास  सार्थक  है,
‘बुरी आदतों  को  जल्दी  बदलो अन्यथा  समय  बदल  देगा  तुझे ‘!

[5]

‘जरा  सी  परेशानी  आते  ही  बिखर  जाने  को  तैयार  हो,
‘जरा  हिम्मत  से  आगे  बढ़ते,’निखर  कर  सामने  आते ‘ !

[6]

‘पीठ  पीछे  बुराई  ना  तो  करो  ना  किसी  को  करने  दो,
‘दोनों तरफ दर्द  है, समुन्नत  जीवन  की  यह  परिभाषा  नहीं” !

[7]

‘न  भगवान  से  प्रार्थना  न  किसी  पर  विश्वास,
‌ ‘न  खुद  कुछ कर्म  करते  हो ,कैसे  जीएगा  बता’ !

[8]

‘कुछ  करोगे  तो  कुछ  मिलेगा’ ,’कुकर्मी  डूबते  देखा ,
‘ञू  धीरे  धीरे  सूरज  उभरता  है ,’यूं  ही  तू  भी  उभर’ !

[9]

‘पत्थर   से  कठोर  मत बनो, ‘न  नम्रता  की  सीमाएं  लांघो,
‘न  यह  उत्तम  न  यह  उत्तम ,’समभाव  की  कीमत  समझ’ !

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज़रा सोचो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…