Home जीवन शैली गृहस्थी को प्यार से सींचो जनाब

गृहस्थी को प्यार से सींचो जनाब

5 second read
0
0
1,022

 Dedicated to All Couples..

अपनी  गृहस्थी  को  कुछ   इस  तरह   बचा  लिया  करो ,
कभी   आँखें   दिखा  दी   कभी   सर  झुका   लिया   करो ,

आपसी  नाराज़गी   को  लम्बा  चलने  ही  न  दिया  करो ,
वो   न   भी   हंसें   तो   तुम   मुस्करा   दिया   करो , 

रूठ   कर   बैठे   रहने   से   घर   भला   कहाँ   चलते  हैं  ,
कभी  उन्होंने  गुदगुदा दिया कभी तुम मना लिया करो  ,

खाने   पीने    पे   विवाद   कभी   होने   ही   न  दिया  करो  ,
कभी  गरम  खा ली कभी  बासी से काम  चला  लिया करो  ,

मीयां   हो  या  बीबी   महत्व   में   कोई   भी   कम   नहीं   ,
कभी खुद डॉन बन गए   तो कभी उन्हें बॉस बना दिया करो ,

अपनी   गृहस्थी   को   कुछ   इस   तरह   बचा   लिया   करो…||

Dedicated to All Couples

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In जीवन शैली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…