Home कविताएं गंगा –जमुनी तहज़ीब का ये वो देश है

गंगा –जमुनी तहज़ीब का ये वो देश है

0 second read
0
0
1,905

‘गंगा –जमुनी तहज़ीब ‘ का ‘ ये वो देश है’ ‘ जहां’ ,
‘बाहर से आयों को’ ‘इज्जत’ व ‘ज़ीने का हक़ देता है’ ,
‘उन्हें अपने धर्म का प्रचार’ करने से ‘रोका नहीं जाता’ ,
‘उत्तम कार्यों’ के ‘तमाम फायदे’ और ‘तमगों से’ ‘नवाजते हैं हम

Load More Related Articles
Load More By Tara Chand Kansal
Load More In कविताएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धकेल देगा

‘कामयाबी पर गुमान’ , ‘शेर-दिल ‘ को भी ‘गुमनामी मे ‘ धक…