Home कोट्स Motivational Quotes ‘खुशियाँ’विचारों की श्रंखला के ‘मोती’ हैं, ‘घटिया सोच’-‘नर्क’ देगी,’सुंदर सोच’-‘स्वस्थ जीवन’ |

‘खुशियाँ’विचारों की श्रंखला के ‘मोती’ हैं, ‘घटिया सोच’-‘नर्क’ देगी,’सुंदर सोच’-‘स्वस्थ जीवन’ |

0 second read
0
0
726

[1]

जरा सोचो
‘खुशियां’  हमारे  ‘विचारों  की  श्रंखला’  के  मोती  हैं,
‘घटिया सोच’ नर्क देगी, ‘सुंदर सोच’ स्वस्थ जीवन !

[2]

जरा सोचो
‘जीने  के  तरीके’  बहुत  महंगे , ‘ जिंदगी ‘  बहुत  ‘सस्ती’  है  जनाब ,
‘दुनियांदारी’ खरीदते  वक्त ‘इंसानियत’ खत्म  होने  में  देर  नहीं  लगती !

[3]

जरा सोचो
‘धींगामस्ती’ ‘जबरदस्ती’ तो  तब  करें, जब  किसी  का ‘बुरा’ करना  हो,
‘ स्नेह  की  पराकाष्ठा’  सब  कुछ  दिला  देती  है , ‘संजोए’  रखना  सदा !

[4]

जरा सोचो
‘ बिना  कहे ‘  कहता  गया, ‘ बेकसूर ‘  होकर  भी  सहता  गया ,
‘मिलनसारी’ निभाने  का ‘गजब अंदाज’  है, आपको  कोटि-कोटि ‘नमन’ !

[5]

जरा सोचो
जिन्हें  हकीकत में ‘आरक्षण’ और ‘संरक्षण’ चाहिए, ‘सडक’ नापते  हैं,
जिन्हें ‘मुस्त  का  हलवा’ चाहिए, वही ‘इसमें’ अपना  सर  खपाते  हैं !

[6]

जरा सोचो
‘काम  की  लगन’ जीवन  बदलने  में  ‘देर’  नहीं  करती,
‘ शिद्दत ‘  से  किया  ‘ कर्म ‘, ‘ सुगंध ‘  फैलाता  जरूर  है !

[7]

जरा सोचो
‘शब्द’  तोल  कर  बोलोगे  तो, ‘सुखदाई  वातावरण’  स्थापित  होगा,
‘बेलगाम  की  जुबान’ न  जाने  किस  किस  के ‘घर’ बर्बाद  कर  देगी !

[8]

जरा सोचो
‘झुक  कर’ और ‘नीचे  देखकर’  चलोगे, तो  ‘शिखर’ पर  जा  पहुंचोगे,
जो  ‘मुंह’  उठा  कर चला, सदा  ‘मुंह  की  खाई’  है, ‘जमीन’  सूंघी  है !

[9]

जरा सोचो
‘तिजोरी में  हीरा’  है  तो ‘सम्मान’  से ‘सम्मानित’  ही  रहोगे,
‘गरीब  की  झोली’  में  सिर्फ  दुनियां  की  ‘धूल’  मिलती  है !

[10]

जरा सोचो
‘वक्त’  मिले  तो  ‘इधर’  भी  देख  लेना  हजूर,
तुम्हारे  ‘स्नेह  की  छाया’  में ‘कोई’  रहता  है !

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In Motivational Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…