Home ज्ञान खुद को कमजोर मानना कमजोरी है

खुद को कमजोर मानना कमजोरी है

0 second read
0
0
1,192

‘मानकर  चलो   हर  व्यक्ति , किसी   न   किसी   रूप   में ,  मुझसे   बेहतर   है ,

बेहतर  करने  का  प्रयास   करते   हो , अनेकों   गुण   स्वम   प्रकट  हो   जाएंगे ,

यह  तुलनात्मक  विश्लेषण   तुम्हारी , अनेकों  उलझनों   को  प्रकट  करा  देगा ,

अपने  को  कमजोर  मानना  ही  कमजोरी  है,सदा  अपना  आंकलन  करते रहो |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In ज्ञान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…