Home जीवन शैली “क्या आपको नींद नहीं आती ? जानिए सोने की टिप्स ” !

“क्या आपको नींद नहीं आती ? जानिए सोने की टिप्स ” !

14 second read
0
0
1,213

अगर आपको भी नहीं आती 8 घंटे की नींद, तो ये टिप्स हैं आपके लिए

By Rashmi Upadhyay , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 25, 2017

Comment

QUICK BITES
  • खाने  की  आदतों  को  बदलना  भी  है  जरूरी । 
  • नींद  बढ़ाने  वाले  हॉर्मोन  ट्रिप्टोफैन  का  बेहतरीन  साधन माना  जाता  है ।
  • नींद  के  लिए  डाइट  में  मैग्नीशियम  को  करें  शामिल ।

अर्ली  टु  बेड ,  अर्ली  टु  राइज़..{ जल्दी सोने के लिए बिस्तर  पर लेटना और  प्रातः  जल्दी  जागना }. यह नर्सरी का  ज्ञान  है  जो  हर  विद्यार्थी  ने  जाना  है  पर  इसमें दी  गई  सीख  को   अपनी   दैनिक   जीवन  में  उतारना  सबके  लिए  मुमकिन  नहीं  है ।  अकसर  देर  रात  तक  पढ़ाई , गपशप  या  पार्टी  करना  नौजवानों   के  प्रतिदिन  रूटीन  में  शामिल  होता   है , जिसकी  वजह  से  उनकी  खाने  की  आदतें  भी  बदल  जाती  हैं ।

आधी   रात  में  कुछ  खाने  की  आदत  को  नौजवान  से  बेहतर  कौन  समझ सकता  है  !  देर  रात   तक  जगते  रहने  के  कारण  उनका  अनुचित  समय  पर  भूख  लगना   स्वाभाविक  है ।  न  तो  हर  किसी  को  आधी  रात  को  बाहर  जाकर कुछ  खाने  की  इजाज़त  मिल   पाती  है ,  न  ही  हर  जगह  के  कुछ  खाने  के  स्थान  उस   समय  तक  खुले  रहते  हैं । देर  रात  मशालेदार चटक  भोजन   लेने  के  बजाय  कुछ  ऐसे  हल्के  स्नैक्स  लेने  चाहिए ,  जिनसे  आपके  सोने  की  क्रियाओं   को  जाग्रत  रखने   में   मदद  मिल  सके । अगर  अकसर  कुछ  हलका-फुल्का  खाने  का  मन  करता  हो  तो  यह  लिस्ट  आपके  लिए  है ।

अखरोट : इन्हें  नींद  बढ़ाने  वाले  तत्व   ट्रिप्टोफैन   का  बेहतरीन  साधन   माना जाता  है ।  मुट्ठी  भर   अखरोट  खाने   से  पेट   तो  भरता   ही  है ,  नींद  भी   जल्दी  आ  जाती   है ।

बादाम : अच्छी  और  गहरी  नींद  के  लिए  भोजन   में  मैग्नीशियम  को  शामिल करना   बहुत   ज़रूरी   होता  है ।  बादाम  का  सेवन  आपकी   इस  मिनरल  की ज़रूरत   को  पूरा  करता  है ।

डेरी प्रोडक्ट्स : चीज़ , दही ,  दूध  आदि  में  पाए  जाने  वाले  कैल्शियम  से  दिमाग ट्रिप्टोफैन  का  बेहतर  तरीके  से  इस्तेमाल  कर  पाता  है।  अकसर  लोग  सोने  से पहले  इन  चीज़ों  का  सेवन  करते  हैं ।

चेरी जूस : हालांकि,  इसके  बारे  में  पूरी  निश्चितता  से  नहीं  कहा  जा  सकता  पर जो  लोग  इसका  सेवन  करते  हैं ,  उन्होंने  अपनी  नींद  के  समय  और  क्वॉलिटी में  सुधार   महसूस  किया  है ।

बटर  :  एक  छोटी  चम्मच   आमंड   बटर   में   मैग्नीशियम   का  अच्छा  डोज़  पाया जाता  है । शरीर  में  इसकी  कमी  से  नींद  आने  में  दिक्कत  होने  के  साथ  ही  मसल   क्रैंप्स { नसों  में  खिंचाव  }  समस्या   भी   हो  सकती  है ।

जिंजर   टी   के  साथ  सूखे  फल [ बादाम, अखरोट ,काजू  आदि ]  स्लीप एक्सपर्ट्स   सोने  से  पहले  चाय  पीने  को एक  तरह  का  स्लीपिंग  अलार्म  मानते हैं । एक  निश्चित  समय  पर  चाय  पीने  से  दिमाग  को  भी  आभास  हो  जाता  है कि  अब  सोने  का  समय  हो  गया  है ।  उसके  साथ  ड्राई  फ्रूट्स  लेना  एक  अच्छा विकल्प  साबित  हो  सकता  है ।

आखिर क्यों समय पर नहीं सो पा रहें हैं आप :-

By Anubha Tripathi , ओन्‍ली   माई  हैल्‍थ  सम्पादकीय  विभाग
Jul 30, 2014

Comment

QUICK BITES
  • ऑफिस  का  काम  घर  पर  लाना  जगने  की  वजह  हो  सकती  है ।
  • रात  को  चाय-कॉफी  का   सेवन  बिस्तर  पर  जाने  से  रोकता  है ।
  • सोने  का   समय  तय  ना  होना  भी  मुख्य  वजह  है ।
  • टीवी  आपकी  नींद  में  खलल  डाल  सकता  है ।
  • रात  को  नींद   में  खलल  पैदा  करने   वाले  कई  तरह  के  कारक  होते  हैं जैसे  छोटे  बच्चे, ऑफिस  का  काम , किसी  तरह  का  दर्द , पड़ोसियों  का शोर  आदि । लेकिन  इसमें  से  कोई  भी  आप  पर  लागू  नहीं  होते  हैं क्योंकि  आप  हर  रात  देर  से  सोते  हैं।  लेकिन  ऐसा  क्यों होता  है  क्या कभी  जानने  की  कोशिश  की  आपने ?हर   किसी   की   लाइफ  स्टाइल  अलग   होती  है । कोई  रात  में  जग कर टीवी  देखना  पसंद  करता  है  तो  कोई  ऑफिस  के  काम  के  कारण  समय पर  नहीं  सो  पाता  है ।  इसकी  वजह  से  आपका  स्वास्थ्य  काफी  हद  तक प्रभावित  होता  है ।  आइए  ऐसे  चार  कारणों  के  बारे  में  जानें  जो  आपके समय  से  सोने  से  रोकते  हैं ।   
    problem in sleeping in hindi

    सर्वोत्तम  काम   देने  का  दबाव  :-

    जब   आप   अपने   ऑफिस  की  सभी  मीटिंग  और  दिए   गए  टास्क  में बेहतर  प्रदर्शन  करते  हैं  तो  आपके  ऊपर  हर  बार  बेहतर  प्रदर्शन  करने का   दबाव  बढ़  जाता  है ।  जिसकी  वजह  से  आप  देर  रात  तक  बेहतर प्रदर्शन  की  तैयारी  करते  हैं । हमेशा  बेस्ट  देने  की  आदत  आपकी  नींद पर  भारी  पड़  जाती  हैं  और  आप  समय  पर  बिस्तर  पर  नहीं  जा  पाते हैं ।  अगर  आप  सोने  के  लिए  चले  भी  गए  तो  काम  के  उधेड़बुन  में  घंटों करवट  बदलते  रह  जाते  हैं ।

     सोते  समय  टीवी  देखना  :-

    सोते  समय  टीवी  देखने  की  आदत  ना  डालें  , क्योंकि  टीवी  पर  चल     रहे  प्रोग्राम्स  का   काफी   असर   आपकी  नींद  पर  पड़ता  है  ।  टीवी       पर   कोई  मनपसंद   प्रोग्राम   आ   रहा   है ,  तो  सोना  ही  भूल  गए,   इससे  बचें । बजाय  इसके  अगर  आप  सोने  से  पहले  15  से  20  मिनट बुक  रीडिंग  की  आदत  डाल  लेंगे ,  तो  आपको   अच्छी  नींद   आएगी । स्टडीज  के  मुताबिक ,  सोने  जाने  से  पहले  टीवी  पर  कोई  डरवाना  या दुख  देने  वाला  सीन  देखने  से  भी  नींद  उड़  जाती  है ।

    watching tv in late night

    कैफीन  भगाए  नींद :-

    अगर  आप  भी  सोने  से  पहले  एक  कप  कॉफी  या  चाय  पीने  के  शौकीन हैं  ,  तो  इस  आदत  पर  काबू  पाएं ।  दरअसल , कैफीन  नींद  को  लाने  की जगह  भगा  देती  है ।  कैफीन  आपके  दिमाग  को  जगाती  है  जिससे  नींद को  कोसों  दूर  भाग  जाती  है ।

    टाइम फिक्स्ड न होना :-

    दरअसल ,  लोग  सोने  का  समय  फिक्स  नहीं  रखते ।  कभी  10  तो  कभी 11 ,  जब  मन  किया   सो  गए ।  इसके  अलावा , रात  को  उचित   नींद  न आने   की  वजह   एक  खास  वजह  दिन  में  लंबे  समय  तक  सोना  भी  है। यह  तय  है  कि  अगर  आप  दिन  में  कई  घंटे   सो  जाएंगे , तो  रात  को प्रॉपर  नींद  कतई  नहीं  आने  वाली । अगर  दिन  में  सोना  ही  है ,  तो  20 मिनट  काफी  हैं ।  

    अगर  आप  भी  इन्हीं  कारणों  की  वजह  से  समय  से  नहीं  सो  पाते      हैं   तो   इन  आदतों   में   सुधार   लाएं   और   समय   से  सोने  की  आदत डालें ।

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In जीवन शैली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…