Home सुविचार कुछ करने की भावना बलवती रहनी चाहिए !

कुछ करने की भावना बलवती रहनी चाहिए !

0 second read
0
0
1,156

 “अनिश्चितता  और  दुर्भाग्य ” को “तिजाँजली  दे कर”  “रचनात्मक  कार्यों  में  लगे  रहना  चाहिए ” | ” अधिक  उम्र” ” किसी  भी  कार्य  में  बाधक  नहीं  होती “, ‘आवश्यकता  यह  है ‘  कि ‘ कार्य  करने   की  भावना  बलवती  रहनी  चाहिए ‘ |

Load More Related Articles
Load More By Tarachand Kansal
Load More In सुविचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

[1] जरा सोचोकुछ ही ‘प्राणी’ हैं जो सबका ‘ख्याल’ करके चलते हैं,अनेक…